mp1सारंगपुर,  यदि कोई ठान ले तो उसकी जिद पूरी होती है ऐसा ही नजारा आज देखने को मिला जब अपनी पढाई को आगे जारी रखने के लिये एक नाबालिक युवती सोमवार को खुद थाने पहुंच कर अपनी होने वाली शादी को रोकने के लिये अपनी पीड़ा पुलिस व महिला बाल विकास अधिकारी के समक्ष बंया की.जिस पर पुलिस व महिला बाल विकास की टीम ने लड़की के परिजनो को बुला कर समझाईस दी.

जिस पर परिजनो ने सहमति जताते हुए होने वाली शादी को रोकना उचित समझा. प्राप्त जानकारी के अनुसार समीपस्थ ग्राम दुगीया में रहने वाली रीना पिता दिनेश भिलाला उम्र 17 वर्ष जो कि नाबालिक है, परिजनो द्वारा युवती की शादी आगामी 6 मई को ग्राम ढाकनी के दिलीप भिलाला के साथ तय की गई थी. जिस पर नाबालिक युवती ने अपने परिजनो को कहा की मुझे बालिक हो जाने दो और अभी मुझे आगे की पढाई भी करना है. लेकिन परिजन नही माने और अंत में युवती ने सोमवार को खुद ही थाने पहुच कर प्रशासन से अपनी शादी रोकने की गुहार लगाई.जिस पर थाना प्रभारी नरेन्द्र सिंह रघुवंशी, महिला बाल विकास अधिकारी कृपाल आठिया, ने युवती के पिता को नाबालिक अवस्था मे शादी के दुषित परिणामो को बताया. और युवती को आगे पढाई जारी रखने को कहॉ गया. इस दौरान महिला बाल विकास सुपरवाइजर प्रमिला सक्सेना, शर्मीला सोलंकी, राज कुमारी, रक्षा, रश्मी साहू, आदि उपस्थित थे.

राजगढ़ , का. बाल विवाह रोकने प्रशासन द्वारा व्यापक स्तर पर जन जाग्रति अभियान चलाया जा रहा है. लोगों में जागरुकता भी आयी है. बावजूद इसके बाल विवाह होने के मामले सामने आ रहे है.

ऐसा ही एक मामला सामने आया हांलाकि ये मामला तब सामने आया जब बाल विवाह हो चुका था. जब ये जोड़ा जालपा माता मंदिर दर्शन करने पहुंचा तब कुछ जागरुक लोगों ने प्रशासन को इसकी जानकारी दी. तत्श्चात ये मामला सामने आया. पुलिस ने इस मामले में दुल्हे के जीजा को हिरासत में ले लिया है. जानकारी के अनुसार सोमवार को जालपा माता मंदिर पर दर्शन करने के लिये अनेक जोड़े पहुंचे. इन्हीं में शामिल एक नाबालिग जोड़े पर लोगों की निगाह पड़ी तो उनके द्वारा इसकी सूचना प्रशासन के अधिकारियों को दी.

Related Posts: