SHIVRAJभोपाल,  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शहरी गरीबों को विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनाओं का लाभ दिलाने के लिये डॉ. भीमराव अम्बेडकर की 125 वीं जयंती एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 100 वीं जयंती के अवसर पर 14 अप्रैल से 25 सितम्बर तक अभियान चलायें.

इसमें हितग्राही मूलक योजनाओं, भवन अनुमति, विभिन्न पेंशन स्वीकृति, नामांतरण एवं आवास स्वीकृति आदि योजनाओं और नगरीय विकास की विभिन्न सुविधाओं का शहरी गरीबों को लाभ दिलाया जायेगा.

मुख्यमंत्री चौहान आज यहां नगरीय विकास एवं पर्यावरण विभाग की समीक्षा कर रहे थे. बैठक में नगरीय प्रशासन एवं विकास राज्य मंत्री लालसिंह आर्य और मुख्य सचिव अंटोनी डिसा भी उपस्थित थे. मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि नगरीय निकायों द्वारा प्रदाय की जाने वाली सेवाएं और सुविधाएं लोगों को आसानी से मिले ऐसी व्यवस्था बनाई जाये. उन्होंने कहा कि अधोसंरचना संबंधी कार्य समय-सीमा में और गुणवत्तापूर्ण हों. शहरी लोक परिवहन के लिये बेहतर व्यवस्था करवाई जाये.

बड़ेे शहरों में सड़कों पर वाहनों की संख्या कम करने की योजना बनायें. मुख्यमंत्री ने कहा कि सबके लिये आवास योजना में गरीबों के लिये बनाये जाने वाले आवासों में मध्यप्रदेश को आदर्श राज्य बनायें. अमृत योजना के क्रियान्वयन में प्रदेश देश में अग्रणी बनें. प्रदेश के छोटे शहरों को भी स्मार्ट सिटी की अवधारणा पर विकसित करें. शहरों में साफ-सफाई की बेहतर व्यवस्था उपलब्ध करवायें.

उन्होंने मुख्यमंत्री शहरी पेयजल योजना और मुख्यमंत्री अधोसंरचना विकास योजना के कार्यों को समय-सीमा में पूरा करवाने को कहा. राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन में गरीब हितग्राहियों को रोजगार उपलब्ध करवाने वाला प्रशिक्षण दिया जाये. इसके लिये प्रत्येक शहर की आवश्यकता के अनुरूप व्यवसाय प्रशिक्षण तय करें.

अवैध कॉलोनियों को वैध करने की प्रक्रिया प्राथमिकता से पूरी करें. बैठक में प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं पर्यावरण के मलय श्रीवास्तव, कमिश्नर नगरीय विकास और पर्यावरण विवेक अग्रवाल, मध्यप्रदेश गृह निर्माण मंडल के प्रबंध संचालक नीतेश व्यास, सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे.

Related Posts: