नयी दिल्ली,

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 23 जनवरी को स्विटजरलैंड के दावोस में विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की वार्षिक बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित करेंगे और इससे पहले वह 22 जनवरी को दुनिया भर की प्रमुख कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों सहित इस बैठक में आये प्रतिनिधियों के लिए भारत द्वारा आयोजित रात्रिभोज की मेजबानी करेंगे।

औद्योगिकी नीति एवं सवंर्धन विभाग (डीआईपीपी) के सचिव रमेश अभिषेक ने आज यहां संवाददाताओं को बताया कि 20 साल के बाद कोई भारतीय प्रधानमंत्री इस बैठक को संबोधित करेंगे।बीस साल पहले भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति कुछ और थी।वर्तमान में परिस्थितियाँ बदल चुकी हैं।

भारत अगले कुछ साल में दुनिया के पांच-छह प्रमुख अर्थव्यवस्था में शामिल होने जा रहा है।तब तक भारतीय अर्थव्यवस्था पाँच-छह लाख करोड़ डॉलर की हो जायेगी।

उन्होंने बताया कि वैश्विक स्तर पर तीन लाख करोड़ डॉलर का कारोबार करने वाली 60 कंपनियों के प्रमुखों को 22 जनवरी की रात्रिभोज के लिए आमंत्रित किया गया है।

उनमें से अब तक 18 देशों की 40 कंपनियों के प्रमुखों ने इसमें शामिल होने की पुष्टि कर दी है।इसके साथ ही 20 भारतीय कंपनियों के प्रमुख भी इसमें शामिल होंगे।रात्रिभोज में भारतीय व्यंजन भी परोसे जायेंगे।