BPL1भोपाल,   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को बहुप्रतीक्षित हबीबगंज स्थित आरओबी वीर सावरकर सेतु का रंगारंग समारोह में लोकार्पण किया. उन्होंने कहा कि नागरिकों की सुविधा और विकास के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी.

उन्होंने भोपाल के विकास के लिए आगामी पांच वर्षों में 15000 करोड़ रूपए एवं मुख्यमंत्री अधोसंरचना के द्वितीय चरण में 100 करोड़ रूपए भोपाल के विकास हेतु देने की घोषणा की. कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी एवं विधानसभा उपाध्यक्ष राजेन्द्र कुमार सिंह भी मौजूद थे.

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि अंग्रेजों से मुक्ति मातृभूमि के भक्तों की कुर्बानियों से मिली है. उन्होंने स्वातंत्र्य वीर सावरकर के संघर्ष और त्याग का स्मरण करते हुए कहा कि शहीदों की स्मृतियों को चिरस्थाई बनाया जाना चाहिये. इससे नई पीढ़ी को प्रेरणा मिलती है. उन्होंने कहा कि ‘माँ तुझे प्रणाम योजना’ में युवाओं को देश की सीमाओं की यात्रा कराई जाती है. वीरों के तीर्थ सेल्यूलर जेल के दर्शन के लिये जाने वाले युवाओं को राज्य सरकार यात्रा व्यय अनुदान देगी.

छोटे तालाब में लगेगी कमलापति की प्रतिमा
मुख्यमंत्री ने कहा कि भोपाल के विकास में कोई कसर बाकी नहीं रहेगी. आगामी 5 वर्ष में भोपाल देश के सर्वश्रेष्ठ शहरों में शामिल करने व हेरिटेज स्वरूप को उभारने का प्रयास हो रहा है. रानी कमलापति महल का जीर्णोद्धार किया जायेगा. उन्होंने रानी की प्रतिमा छोटे तालाब पर स्थापित किये जाने के लिये स्थान चयन के निर्देश दिये. उन्होंने कहा कि भोपाल स्मार्ट बनेगा, जिसमें वर्तमान से अधिक हरियाली होगी. नगर का अद्भुत स्वरूप निखरेगा.

नाम वीर सावरकर होना सराहनीय पहल
सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने पुल का नामकरण स्वातंत्र्य वीर सावरकर के नाम किये जाने को सराहनीय पहल बताया.

Related Posts:

बागियों को पार्टी में लौटने की हरी झंडी
मार्कशीट में संशोधन के लिये अब ऑनलाइन सुविधा
कालेज वार्षिकोत्सव : चुनौतियों को पार कर दीपा बनी अनुपमा-2016
ठेला व्यापारियों और निगम अमले के बीच हाथापाई
इंजीनियरिंग कॉलेज के निर्माण, एजेंसी से नहीं करवाई जाए : गुप्ता
भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन हो सर्वोच्च प्राथमिकता : मुख्यमंत्री चौहान