13kkk2क्राइस्टचर्च, 13 फरवरी. न्यूजीलैंड अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में उन टीमों में से एक है जो लगातार उम्दा प्रदर्शन करती है. वह छह बार सेमीफाइनल तक का सफर तय करने के बाद वे अब तक विश्व कप में अपना पहला खिताब नहीं जीत पाए हैं. लेकिन इस बार उनके मौजूदा प्रदर्शन और घरेलू परिस्थितियों को देखते हुए उन्हें खिताब के प्रबल दावेदारों में शुमार किया जा रहा है.

मेजबान न्यूजीलैंड भी शनिवार को हेगले ओवल में जब पूर्व चैम्पियन श्रीलंका के खिलाफ उतरेगी तो उनका मकसद जीत की अपनी लय को बरकरार रखते हुए जीत के साथ अपने अभियान का आगाज करने पर रहेगी.

श्रीलंका के खिलाफ बीती सीरीज में मिली जीत के कारण भी उनका हौसला बुलंद रहेगा, हालांकि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक अनुभवी खिलाडिय़ों से लैस भारतीय उपमहाद्वीप की धुरंधर टीम श्रीलंका से पार पाना उनके लिए इतना आसान भी नहीं रहेगा. मौजूदा न्यूजीलैंड जितनी संतुलित इस समय लग रही है शायद उतनी संतुलित कभी नहीं रही.

कप्तान ब्रेंडन मैक्लम, सलामी बल्लेबाज केन विलियमसन और अनुभवी मार्टिन गुप्टिल जहां बल्लेबाजी के शीर्ष क्रम को संवारने में सक्षम हैं, वहीं पिछले वर्ष अंतर्राष्ट्रीय वनडे में सबसे तेज शतक लगा धमाकेदार शुरुआत करने वाले कोरी एंडरसन और विस्फोटक बल्लेबाज रॉस टेलर के बल पर उनका मध्यक्रम भी शानदार नजर आ रहा है. गेंदबाजी की बात करें तो अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कुछ सर्वाधिक अनुभवी स्पिन गेंदबाजों में शुमार दिग्गज डेनियल विटोरी के अलावा टिम साउदी और ट्रेंट बोल्ट पर तेज गेंदबाजी का भार रहेगा. न्यूजीलैंड के लिए सबसे अच्छी बात यह है कि उनकी टीम का कोई भी सदस्य चोट से नहीं जूझ रहा और सभी खिलाड़ी पूरी तरह तैयार हैं.

Related Posts: