anand-raiइंदौर, 2 सितंबर. मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय की इंदौर खंडपीठ में आज व्यापमं मामले को उठाने वाले सामाजिक कार्यकर्ता डॉ आनंद रॉय ने शपथ पत्र पेश कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर गंभीर आरोप लगाए। न्यायालय ने इस मामले में सरकार से एक सप्ताह में शपथ पत्र पर जवाब मांगा है।

प्रशासनिक न्यायमूर्ति पीके जायसवाल और न्यायमूर्ति डीके पालीवाल के समक्ष न्यायालय में डॉ राय दंपति का तबादले किये जाने को चुनौती देती हुई याचिका की सुनवाई हो रही है।

डॉ राय ने अदालत के समक्ष मुख्यमंत्री के खिलाफ शपथ पत्र प्रस्तुत करते हुए आरोप लगाए कि मुख्यमंत्री ने उन्हें 11 अगस्त को निज निवास पर बुलाया था। इस दौरान उन्होंने रात पौने 10 बजे से 10 बज कर 50 मिनट तक उनसे चर्चा की।

अदालत के समक्ष उपस्थित अतिरिक्त महाधिवक्ता सुनील जैन ने सरकार की ओर से जवाब पेश करने के लिए एक सप्ताह का समय माँगा, जिस पर अदालत ने एक सप्ताह में शपथ पत्र पर जवाब पेश करने का आदेश दिया।
डॉ राय ने राज्य सरकार पर दुर्भावनाग्रस्त होकर उनका और उनकी पत्नी डॉ गौरी राय का तबादला किये जाने का आरोप लगाते हुए याचिका लगाई गई थी।

Related Posts: