DSCF0009भोपाल,  बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि राज्यपाल रामनरेश यादव ने व्यापमं से जुड़े सवाल पर कहा कि कोई भी बेईमान नहीं बचेगा. उन्होंने कहा कि मेरे दामन पर जो दाग लगाने की कोशिश की जा रही है, वो सफल नहीं होगी.

मैं 88वें वर्ष में प्रवेश कर रहा हूं. कई जिम्मेदार पदों पर रहा, लेकिन कभी कोई आरोप नहीं लगे. राज्यपाल यादव दीक्षांत समारोह को सम्बोधित कर रहे थे.
राज्यपाल ने छात्र-छात्राओं से कहा कि वे ईमानदारी, धैर्य और संकल्प के साथ आगे बढ़ें. भारतीय दर्शन, संस्कृति और संसार जीवन में सफलता प्राप्त करने की सीढ़ी है. उन्होंने कहा की छात्राओं में जिस तेजी से शिक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ रही है, इससे यह विश्वास हो गया है कि अब हमारे देश को फिर से विश्व गुरु बनने से कोई रोक नहीं सकता है. इस अवसर पर बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के कुलपति मुरलीधर तिवारी, अटलबिहारी बाजपेयी विश्वविद्यालय के कुलपति छीपा और राज्यपाल के प्रमुख सचिव अजय तिर्की उपस्थित थे.

दीक्षांत समारोह काफी हंगामे के बीच संपन्न हुआ. एनएसयूआई कार्यकर्ता समारोह शुरू होने के पूर्व वहां पहुंच गए तथा काले झंडे दिखाकर विरोध करने लगे. कार्यकर्ताओं का कहना था कि राज्यपाल यादव व्यापमं घोटाले में संदेही है, इसके चलते उनसे अध्यक्षता नहीं कराई जाए. हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने कार्यकर्ताओं पर हल्का बल प्रयोग किया, तथा उनकी गिरफ्तारी की. कार्यक्रम खत्म नहीं होने तक पुलिस ने ज्ञान विज्ञान भवन पर खास पहरा रखा. बिना पास के किसी को अंदर जाने की इजाजत नहीं थी.

Related Posts: