हाईकोर्ट ने पूरी की सुनवाई, अन्य की जमानत पर सुनवाई 13 को

जबलपुर/भोपाल,

व्यापमं मामले में सीबीआई द्वारा आरोपी बनाए गए लोगों की जमानत याचिका पर हाईकोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई.

हाईकोर्ट ने इनमें से तीन आरोपियों के मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया है, वहीं अन्य आरोपियों की याचिकाओं पर सुनवाई के लिए 13 दिसम्बर की तारीख तय की गई है.

व्यापमं मामले की सुनवाई कर रही विशेष अदालत द्वारा आरोपियों की जमानत याचिका खारिज किए जाने के बाद आरोपियों की ओर से जबलपुर हाईकोर्ट में जमानत याचिका लगाई गई थी.

इन आरोपियों की ओर से सुप्रीम कोर्ट के जानेमाने वकील केटीएस तुलसी और पीएच पारिख ने अदालत के सामने पक्ष रखा.

दोनों पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने चिरायु मेडिकल कॉलेज के चेयरमैन अजय गोयनका, एल एन मेडिकल कॉलेज के एडमिशन इनचार्ज डीके सतपथी और एलएन मेडिकल कॉलेज के चेयरमैन जय नारायण चौकसे की जमानत याचिकाओं पर फैसला सुरक्षित रख लिया है.

वहीं, अन्य आरोपियों की जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए 13 दिसंबर की तारीख तय की गई है.याचिकाकर्ताओं की ओर से तर्क दिया गया कि पूरे फर्जीवाड़े में अभी तक किसी भी आरोपी के खिलाफ अभियोजन द्वारा पुख्ता सबूत पेश नहीं किए गए हैं ऐसे में उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जा सकता है और उन्हें जमानत लेने का भी पूरा हक है.

इस पर सीबीआई की ओर से असिस्टेंट सॉलिसिटर जनरल ने अदालत को बताया कि तमाम आरोपियों पर लगे आरोप गंभीर किस्म के हैं. इन्होंने हजारों छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ किया है और मोटी रकम लेकर अपात्रों को मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश दे दिया है इसलिए कोई भी आरोपी जमानत का हकदार नहीं है.

Related Posts: