वैंकूवर, 4 सितंबर. तुर्की के तट पर एक सीरियाई शरणार्थी बच्चे का शव पाए जाने के बीच उसके परिवार के काफी दिनों से कनाडा में शरण लेने के प्रयास की बात सामने आने से कनाडाई सरकार चौतरफा आलोचनाओं का सामना कर रही है।

बोडरम के एजियन रिसॉर्ट के निकट तीन साल के एक कुर्द बच्चे आयलान कुर्दी के शव की तस्वीर सोशल मीडिया में जारी हुई। इसके बाद सभी प्रमुख समाचार पत्रों और स्थानीय मीडिया में इस तस्वीर को पहले पन्ने पर जगह दी गयी। इस तस्वीर के मीडिया में जारी होने के बाद लोगों के बीच शरणार्थियों के लिए न केवल सहानुभूति की लहर तेज हो गयी है बल्कि शरणार्थियों के मुद्दे पर चुप्पी साधे विकसित देशों की आलोचना भी जोर पकडऩे लगी है।

कनाडा के नागरिकता और आव्रजन विभाग ने कहा कि मृत बच्चे के परिवार की तरफ से शरण के लिए अर्जी दायर करने का कोई रिकार्ड नहीं है। इस घटना के बाद से कनाडा की राजनीति में आरोप प्रत्योरोप का दौर शुरु हो गया है। न्यू डेमोक्रेटिक नेता थॉकस मुलकैर ने कहा कि उनके एक सांसद ने इस बच्चे के परिवार की मदद करने की कोशिश की थी।

लिबरल नेता जस्टिन ट्रूडियू ने कहा कि कनाडा को तुरंत 25 हजार सीरियाई शरणार्थियों को शरण देनी चाहिए। वहीं प्रवासी मामलों के मंत्री क्रिस एलेक्सेंडर चुनाव प्रचार अभियान रद्द करके ओटावा लौट आए है। कनाडा ने कहा है कि वह इराक के 23 हजार नागरिकों और सीरिया के11300 नागरिकों को शरण देगा लेकिन अभी तक वह केवल 2300 सीरियाई नागरिकों को ही शरण दे पाया है जिसके कारण उसकी आलोचना हो रही है।

Related Posts: