नयी दिल्ली,

शीतकालीन सत्र के पहले दिन राज्यसभा में जनता दल (यू) के बागी नेता शरद यादव की सदस्यता रद्द होने के मामले में आज शून्यकाल में जबर्दस्त हंगामा हुआ जिससे सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गयी।

सभापति एम वेंकैया नायडू ने पूर्व दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि देने और नियमित कामकाज निपटने के बाद सदन को सूचित किया कि जनता दल यू के सदन में नेता रामचंद्र प्रसाद की याचिका के सम्बन्ध में दोनों पक्षों के तर्क सुनने के बाद श्री शरद यादव और श्री अली अनवर की सदस्यता सदन की प्रक्रिया एवं नियमों के तहत राज्यसभा से रद्द कर दी गयी।

इस पर सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आज़ाद और सपा के नेता नरेश अग्रवाल ने आपत्ति जतायी और सवाल खड़े किये। श्री अग्रवाल ने व्यवस्था का प्रश्न उठाया जिसे श्री नायडू ने नामंजूर कर दिया।इस बीच विपक्ष के कई सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया।

श्री आज़ाद और श्री अग्रवाल ने कहा कि वे श्री नायडू के फैसले को चुनौती नहीं दे रहे लेकिन उन्हें अपनी बात तो कहने दी जाये, तब श्री नायडू ने श्री अग्रवाल को बोलने की इजाज़त दी।

Related Posts: