चेन्नई,  अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (अन्ना द्रमुक) की महासचिव वी के शशिकला ने आज अपने भतीजे एवं पूर्व सांसद टीटीवी दिनाकरण को पार्टी में एक नये पद का सृजन करके उप महासचिव बना दिया।

श्री दिनाकरण और सुश्री शशिकला के एक अन्य भतीजे एस वेंकटेश ने अपनी गतिविधियों के लिए क्षमा मांगते हुए पार्टी को एक पत्र लिखा था और उन्हें पार्टी में दोबारा शामिल करने की अपील की थी। इसके कुछ ही मिनटों बाद श्री दिनाकरण को पार्टी का उप महासचिव नियुक्त कर दिया गया।

गौरतलब है कि दिसंबर 2011 में तत्कालीन मुख्यमंत्री दिवंगत जे जयललिता ने सुश्री शशिकला, उनके पति नटराजन, भतीजे दिनाकरण और अन्य रिश्तेदारों समेत 14 लोगों को पार्टी से निकाल दिया था।

बाद में सुश्री शशिकला ने माफी मांग ली थी और कहा था कि उन्हें पार्टी में कोई पद या शक्ति की दरकार नहीं है, वह केवल सुश्री जयललिता की सहायक बनकर रहना चाहती हैं। इसके बाद उन्हें पार्टी में दोबारा शामिल कर लिया गया था। सुश्री शशिकला ने एक बयान जारी करके कहा “उन दोनों की अपील स्वीकार करते हुए उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता दे दी गयी है।” उच्चतम न्यायालय ने सुश्री शशिकला और दो अन्य कोआय के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में कल दोषी करार देते हुए निचली अदालत द्वारा मिली चार-चार साल की सजा और 10-10 करोड़ रुपये का जुर्माना बरकरार रखा।

उन्हें आज उच्चतम न्यायालय से उस वक्त एक और झटका मिला, जब उसने आत्मसमर्पण के लिए अधिक समय देने की उनकी अर्जी ठुकरा दी। सुश्री शशिकला की ओर से मामले का विशेष उल्लेख किया गया, लेकिन शीर्ष अदालत ने यह कहकर उनकी अर्जी ठुकरा दी कि वह फैसले में कोई संशोधन नहीं करेगी। न्यायालय ने कहा कि उन्हें तत्काल आत्मसमर्पण करना होगा।

Related Posts: