नयी दिल्ली,

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद आज उस समय भावुक हो गये जब उन्होंने भारतीय वायु सेना के शहीद गरुड़ कमांडो ज्योती प्रकाश निराला को मरणोपरांत अशोक चक्र पुरस्कार शहीद की पत्नी को दिया ।

जब उद्घोषक ने शहीद निराला की मां और पत्नी को मंच पर आमंत्रित करने के दौरान कमांडो निराला के साहसिक कारनामे को सुनाना शुरू किया उसी दौरान राष्ट्रपति भावुक हो गए और उनकी आंखें भर आईं।

शहीद की मां और पत्नी को सम्मानित करने के बाद जब श्री कोविंद अपनी कुर्सी पर बैठे तो उनकी आंखों से आंसू छलक गये।

गरुड़ कमांडो निराला तीन महीने पहले विशेष ड्यूटी पर कश्मीर के हाजिन में तैनात थे अौर इसी दौरान वह आतंकवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए थे।श्रीनगर में हुए इसी ऑपरेशन के दौरान सेना की तरफ से की गई कार्रवाई में आतंकवादी मसूद अजहर का भतीजा तल्हा रशीद भी मारा गया था।

शहीद कमांडो निराला बिहार के रोहतास के रहने वाले थे।वे साल 2005 में वायु सेना में शामिल हुए थे।कमांडो निराला जुलाई 2017 में विशेष ड्यूटी पर कश्मीर में तैनात किए गए थे।देश के इतिहास में यह पहली बार है जब भारतीय वायु सेना के किसी गरुड़ कमांडो को अशोक चक्र से नवाजा गया है।

Related Posts:

टैलेंट के आगे कुछ मायने नहीं रखता
स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 22 बंदी रिहा
गुलबर्ग सोसायटी नरसंहार : 11 दोषियों को उम्र कैद, 12 को सात सात साल, एक को 10 सा...
मनरेगा के कामों की निगरानी करेगा इसरो
पाकिस्तान ने सांबा,जम्मू,राजौरी और पुंछ में की गोलाबारी, सात की माैत,18 घायल
मनमोहन, चिदंबरम ने दायरे से बाहर जाकर की थी, माल्या की मदद : भाजपा