vasundharaजयपुर,  राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने प्रदेशवासियों से कहा है कि वे महात्मा ज्योति राव गोविन्द राव फुले की पुण्य तिथि पर राज्य को पूर्ण शिक्षित बनाने का संकल्प लें।

श्रीमती राजे ने कहा कि महात्मा फुले ने शिक्षा के माध्यम से समाज में सकारात्मक परिवर्तन की कल्पना को हकीकत में बदला था। उन्होंने कहा कि शिक्षा के माध्यम से हम समाज में व्याप्त कुरीतियों और बुराइयों को दूर कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि महात्मा ज्योतिबा फुले सामाजिक न्याय के सिद्धांत को महिला शिक्षा के माध्यम से समाज में परिवर्तन का आधार मानते थे। वे सामाजिक समानता , आर्थिक न्याय , मूल्य आधारित व्यवस्था और शोषण रहित समाज के समर्थक थे और उन्होंने इसके लिए आजीवन प्रयास किए। उन्होंने 1848 में बालिकाओं को शिक्षा देने के लिए स्कूल खोला और उनमें अधिकारों और समानता के प्रति चेतना जगाई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा दायित्व है कि हम जाति-पांति के बंधनों से मुक्त, शिक्षित और समर्थ समाज की स्थापना करें। यही सामाजिक समरसता हमारे समाज के विकास में सहायक सिद्ध होगी।

Related Posts: