नई दिल्ली,  भारतीय महिला हॉकी टीम अगले महीने जोहानसबर्ग में होने वाले हॉकी वल्र्ड लीग सेमीफाइनल से पूर्व हिमाचल प्रदेश के शिलारू स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण सेंटर में 24 दिवसीय शिविर में अपनी तैयारियों को पुख्ता करेगी.

सातवें महिला हॉकी चैंपियनशिप में हिस्सा लेने वाली खिलाडिय़ों सहित कुछ नये चेहरों को इस कैंप का हिस्सा बनाया गया है जहां 33 संभावित खिलाड़ी मेगा टूर्नामेंट के लिये अपनी तैयारियों को अंजाम देंगी. 24 दिनों तक चलने वाले इस शिविर में स्वाति, सविता, रजनी इतिमारपू को गोलकीपिंग में दीप ग्रेस एका, पी सुशीला चानू, सुनीता लाकड़ा जैसी खिलाडिय़ों को डिफेंडरों में शामिल किया गया है. करिश्मा, निलांजलि राय, करिश्मा यादव को मौजूदा अनुभवी मिडफील्डरों रितु रानी, मोनिका, लिलिमा मिंज के साथ मौका दिया गया है.

10 सदस्यीय फारवर्ड लाइनअप में रानी, नवजोत कौर, प्रीति दुबे आदि शामिल हैं. भारतीय टीम को वल्र्ड लीग के लिये ग्रुप-बी में शामिल किया गया है और उसके साथ अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका, चिली और अर्जेटीना की टीमें शामिल हैं. पूल-ए में इंग्लैंड, जर्मनी, जापान, पोलैंड और आयरलैंड की टीमें हैं. महिला हॉकी टीम के कोच शुअर्ड मरीने ने कहा कि शिलारू 2500 की ऊंचाई पर है जबकि जोहानसबर्ग 1750 मीटर पर हहै. ऐसे में हमारी टीम को इस ऊंचाई और वातावरण के अनुसार खुद को ढालने में मदद मिलेगी. हम अभी अपनी 33 संभावित खिलाडिय़ों के साथ अभ्यास करेंगे.

Related Posts: