sensexमुंबई,  अमेरिका में इस महीने ब्याज दर बढ़ोतरी की संभावना क्षीण होने से वैश्विक बाजारों में आई तेजी तथा निवेशकों की चौतरफा लिवाली से आज घरेलू शेयर बाजार 1.5 प्रतिशत से अधिक चढ़कर डेढ़ साल के उच्चतम स्तर पर पहुँच गये। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 445.91 अंक यानी 1.56 प्रतिशत मजबूत होकर 29 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के नजदीक 28,978.02 अंक पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी भी 133.35 अंक अर्थात् 1.51 फीसदी उछलकर 8,900 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 8,943 अंक पर रहा। इस दौरान निवेशकों ने चौतरफा लिवाली की। इससे बड़ी कंपनियों के अलावा छोटी एवं मझोली कंपनियों में भी मजबूती आई। बीएसई का स्मॉलकैप 0.95 फीसदी तेज होकर 12,764.34 अंक पर तथा मिडकैप 1.84 प्रतिशत चढ़कर 13,474.12 अंक पर बंद हुआ।

ऑटो तथा बैंकिंग कंपनियों में सबसे ज्यादा तेजी देखी गई। टाटा मोटर्स को राज्य सरकारों से पाँच हजार बसों के लिए 900 करोड़ रुपये से ज्यादा के ऑर्डर मिलने की खबर से उसके शेयर सबसे ज्यादा 7.19 प्रतिशत चढ़ गये। एक्सिस बैंक ने छह फीसदी से अधिक, आईसीआईसीआई बैंक ने सवा चार फीसदी तथा टाटा स्टील और मारुति सुजुकी ने तीन फीसदी से ज्यादा मुनाफा कमाया।

वहीं, टाटा समूह की सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी टीसीएस सबसे ज्यादा 1.17 प्रतिशत तथा दुनिया की सबसे बड़ी काेयला उत्पादक कंपनी कोल इंडिया 1.11 प्रतिशत के नुकसान में रहीं। सेंसेक्स में 25 कंपनियों के शेयर चढ़े जबकि चार के गिरे। विदेशी बाजारों में भी आज तेजी दर्ज की गई। एशियाई बाजारों में जापान का निक्की 0.26 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 0.58 प्रतिशत, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.31 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.63 प्रतिशत की बढ़त में रहे। यूरोपीय बाजारों में भी अधिकांश हरे निशान में खुले।

हालाँकि, ब्रिटेन का एफटीएसई 0.18 फीसदी लुढ़क गया। बीएसई में आज कुल 2,956 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,627 कंपनियाँ बढ़त में रहीं जबकि 1,125 के शेयरों में गिरावट रही। 204 कंपनियों के शेयरों में कोई परिवर्तन नहीं हुआ। एनएसई में कुल 1,525 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 938 बढ़त में तथा 527 गिरावट में रहे। 60 कंपनियों के शेयर अपरिवर्तित रहे।

Related Posts: