मुंबई,  अंतररराष्ट्रीय बाजारों से मिले मिश्रित संकेतों के बीच मानसून के बेहतर होने के संबंध में भारतीय मौसम विभाग के बयान से मजबूत हुई कारोबारी धारणा के दम पर घरेलू शेयर बाजार ने जबरदस्त छलांग लगाकर अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये।

मंगलवार को लगभग सपाट बंद बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स भारती एयरटेल और हिंदुस्तान यूनीलीवर में हुई जबरदस्त लिवाली की बदौलत 314.92 अंक यानी 1.05 प्रतिशत की बढ़त के साथ अब तक के सबसे ऊंचे स्तर 30,248.17 अंक पर बंद हुआ।

इसी तरह निफ्टी भी 0.97 प्रतिशत यानी 90.45 अंक चढ़कर पहली बार 9400 के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 9,407.30 अंक पर बंद हुआ।

अधिकतर दिग्गज कंपनियों में हुई लिवाली से सेंसेक्स 55.53 अंक की बढ़त में 29,988.78 अंक पर खुला।

खुलते ही 29,987.44 अंक के निचले स्तर को छूने के बाद निवेशकों की मजबूत धारणा से यह 30,271.60 अंक के उच्चतम स्तर तक पहुंचा। यह सेंसेक्स का कारोबार के दौरान का अब तक का सबसे ऊँचा स्तर है।

कारोबार के अंतिम घंटे में भी इसकी बढ़त लगभग बनी रही और यह गत दिवस की तुलना में 314.92 अंक की भारी तेजी के साथ 30,248.17 अंक पर बंद हुआ।
सेंसेक्स की 30 में से मात्र आठ कंपनियाँ लााल निशान में रहीं जबकि शेष 22 हरे निशान में बंद हुईं। सेंसेक्स में सबसे अधिक मुनाफे में भारती एयरटेल और हिंदुस्तान यूनीलीवर रहीं।

बीएसई के 20 में से मात्र दो समूह – आईटी और रिएल्टी – में गिरावट रही।
शेष 18 समूह बढ़त में रहे। निफ्टी का ग्राफ भी सेंसेक्स की तरह ही रहा।
यह 22.80 अंक की तेजी में 9,339.65 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान इसका उच्चतम स्तर 9,414.75 अंक और निचला स्तर 9,336 अंक रहा।

कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस की तुलना में 90.45 अंक ऊपर 9,407.30 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 3,021 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ।

इनमें 1,627 हरे निशान में और 1,220 लाल निशान में रहीं जबकि 174 के शेयरों के भाव उतार-चढ़ाव से होते हुये गत दिवस के समान रहे।
दिग्गज कंपनियों की तरह मंझोली और छोटी कंपनियों में भी लिवाली का जोर रहा। हालांकि, इनकी बढ़त तुलनात्मक रूप से कम रही।

बीएसई का मिडकैप 0.87 प्रतिशत यानी 128.41 अंक चढ़कर 14,949.54 अंक पर और स्मॉलकैप 0.75 प्रतिशत यानी 117.25 अंक की मजबूती के साथ 15,661.65 अंक पर बंद हुआ।

Related Posts: