मुंबई,

मुनाफावसूली के दबाव में घरेलू शेयर बाजारों में लगातार दूसरे दिन गिरावट रही।बीएसई का सेंसेक्स 21.10 अंक लुढ़ककर 33,756.28 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 3.90 अंक फिसलकर 10,440.30 अंक पर आ गया।

शेयर बाजार में दिन भर उतार-चढ़ाव रहा।हालाँकि, दोनों प्रमुख सूचकांक बेहद सीमित दायरे में रहे।ऑटो समूह ने जहाँ बाजार पर दबाव बनाया, वहीं ऊर्जा और यूटिलिटी समूहों से उसे समर्थन मिला।

सेंसेक्स में महिंद्रा एंड महिंद्रा ने सर्वाधिक करीब पौने चार प्रतिशत का नुकसान उठाया।मारुति सुजुकी, हिंदुस्तान यूनिलिवर और बजाज ऑटो के शेयर भी एक प्रतिशत से अधिक टूटे।विदेशी बाजारों से मिले संकेत भी नकारात्मक रहने से प्रमुख सूचकांक अंतत: लाल निशान में बंद हुये।

दिग्गज कंपनियों के विपरीत छोटी और मझौली कंपनियों में बड़ी तेजी देखी गयी।बीएसई का स्मॉलकैप 1.11 प्रतिशत की बढ़त में 18,881.04 अंक पर पहुँच गया।मिडकैप भी 0.77 प्रतिशत की तेजी के साथ 17,553.71 अंक पर बंद हआ।

सेंसेक्स 48.87 अंक चढ़कर 33,826.25 अंक पर खुला।शुरुआती घंटे में ही 33,860.99 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूने के बाद कभी हरे और कभी लाल निशान में होता हुआ कारोबार की समाप्ति से पहले 33,707.80 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतर गया।अंतत: यह 0.06 प्रतिशत यानी 21.10 अंक की गिरावट में 33,756.28 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स में कुल 2,895 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,705 में लिवाली और 1,009 में बिकवाली रही।वहीं 181 के शेयर अंतत: अपरिवर्तित रहे।

निफ्टी 29.75 अंक की मजबूती के साथ 10,473.95 अंक पर खुला और यही इसका दिवस का उच्चतम स्तर भी रहा।कारोबार की समाप्ति से पहले 10,426.90 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ यह 10,440.30 अंक पर रहा।

Related Posts: