kuno national parkश्योपुर, 02 जुलाई. बाढ से मर रहे गुजरात के शेरों को मध्यप्रदेश में सुरक्षित ठिकाना दिलाए जाने की कवायद को देश के आला वन्यजीव वैज्ञानिकों की ओर से भी बल मिला है. उच्चतम न्यायालय ने इस बारे में दो साल पहले फैसला दिया था, जिसके बाद भी गुजरात सरकार की आनाकानी के कारण एक भी शेर मप्र नहीं आ सका है.

केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने गुजरात के गिर के शेरों को मप्र के श्योपुर जिले के कूनो अभयारण्य में लाने के मुद्दे पर देहरादून स्थित भारतीय वन्यप्राणी संस्थान के वैज्ञानिकों से रिपोर्ट मांगते हुए पूछा था कि कूनो गिर के शेरों के लिए सुरक्षित है या नहीं. संस्थान के वैज्ञानिकों ने जमीनी आंकलन के बाद मंत्रालय को दी गई अपनी रिपोर्ट में कूनो को शेरों के रहवास के लिए पूरी तरह सुरक्षित और उनके कुनबे में वृद्धि के लिए अनुकूल बताया है.

Related Posts: