संतजन एवं ऊर्जा मंत्री जैन हुए शामिल

नवभारत न्यूज उज्जैन

श्री महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति के द्वारा 5, 6 एवं 7 जनवरी को शैव महोत्सव का आयोजन किया जावेगा। महोत्सव में द्वादश ज्योतिर्लिंग का समागम होगा।

मंदिर समिति के द्वारा शैव महोत्सव का शंखनाद नव वर्ष के प्रथम दिवस 1 जनवरी को प्रात: मंदिर पुलिस चौकी के सामने ध्वज पूजन एवं महाकाल प्रवचन हॉल में कला संगम के उद्घाटन के साथ हुआ।

कला संगम के उद्घाटन में केन्द्रीय सिंहस्थ समिति के अध्यक्ष माखनसिंह चौहान ने महाकालेश्वर वेद अलंकरण देने की घोषणा की। उद्घाटन के अवसर पर संत समाज, ऊर्जा मंत्री पारस जैन सहित जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी आदि उपस्थित थे।

श्री मुले होंगे सम्मानित

श्री महाकालेश्वर मंदिर के मुख्य द्वार पर पुलिस चौकी के सामने ध्वज का पूजन प्रदीप पुजारी के नेतृत्व में पं. निर्मल गुरू की आचार्यत्व में पंडितों द्वारा विधिवत पूजन-अर्चन एवं मंत्रोच्चार के साथ किया गया।

महाकाल मंदिर के नंदीहाल में शैव महोत्सव के सफल आयोजन के लिए लगभग 44 पुजारी-पुरोहितों के द्वारा 3 दिवसीय महारूद्र अनुष्ठान प्रारंभ किया गया। ध्वज पूजन के बाद महाकाल प्रवचन हाल में कलासंगम के कार्यक्रम का उद्घाटन हुआ।

उद्घाटन के दौरान केन्द्रीय सिंहस्थ समिति के अध्यक्ष माखनसिंह चौहान ने महाकालेश्वर वेद अलंकरण की घोषणा करते हुए कहा कि यह अलंकरण 2017 के लिये महाराष्ट्र के वेदमूर्ति जो कि राष्ट्रीय स्तर पर सुपरिचित है, दुर्गादास अम्बादास मुले को दिया जायेगा।

यह अलंकरण इन्हें 5 जनवरी को शैव महोत्सव के उद्घाटन के अवसर पर दिया जायेगा। श्री महाकालेश्वर वेद अलंकरण में श्री मुले को 1 लाख रूपये, रजत पत्र एवं प्रषस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जायेगा।

Related Posts: