बिगड़ रही संत नगर की यातायात व्यवस्था

संत हिरदाराम नगर,

संत नगर में बीआरटीएस कोरीडोर के निर्माण के समय करोड़ों खर्च करके ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए सभी चौराहे पर सिंग्नल लगाये गए. लेकिन बीआरटीएस निर्माण के बाद कुछ समय तक इसका नियमित पालन किया गया. बाद में वह शोपीस बन कर रह गए.

संत नगर में मुख्य मार्ग पर सभी चैराहे पर सिंग्नल लगे हैं, जिसमें से कुछ बन्द पड़े हैं. यदि कई से चालू भी है तो उनका पालन नहीं किया जाता है. विगत दिनों सिंग्नल सुधार कर नई केबल लाइन डाली गई ताकि एक बार फिर से यातायात व्यवस्था सुधारी जा सके. लेकिन यातायात व्यवस्था चैपट नजर आ रही है. चैराहे से कोई कहीं से भी अपने वाहन को निकाल लेता है इससे आये दिन दुर्घटनाएं भी होती रहती है.

भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की संत नगर में बैठक सम्पन्न

भारतीय जिला अध्यक्ष व मध्य विधानसभा के विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह के निर्देशानुसार व अल्पसंख्यक मोर्चा में प्रदेश अध्यक्ष डॉ सनवर पटेल के मार्गदर्शन में भारतीय जनतापार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा के मंडलों की कामकाजी बैठकें शुरू हो गई हैं.

संत हिरदाराम नगर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की एक बैठक भारतीय जनता पार्टी के जिला उपाध्यक्ष राम बंसल के मुख्य आतिथि में भोपाल भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा जिला अध्यक्ष एम एजाज खान की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई.

बैठक में निर्णय लिया गया की मंडल की बैठक हर माह की जाएगी. मोर्चे को मजबूत बनाने के लिये बूथ स्तर तक प्रत्येक अल्पसंख्यक को जोड़ा जायेगा. मण्डल वार्ड व बूथ कमेटी तक गठन हो प्रदेश में चलाई जा रही जान कल्याणकारी योजनाओ की जानकारी प्रत्येक घर तक पहुचाएं.

बार-बार लगता है जाम

संत नगर के अंदरूनी बाजार की सडकें सकरी है और पार्किंग की व्यवस्था का न होना भी चिन्ता का विषय है. इधर, संकरे बाजार में चार पहिया वाहनों को लाने से बार-बार जाम के हालात बनते हंै. इलाहबाद बैंक रोड, सर्राफा मार्केट शिव मंदिर रोड, बस स्टैण्ड रोड आदि कई ऐसे मुख्य बाजार है जहां पर बार-बार जाम के हालात उत्पन्न होते हैं.

ट्रैफिक पुलिस की नहीं है तैनाती

बैरागढ़ व्यापारिक क्षेत्र होने के कारण यहां बाजार में ग्राहकों की भीड़ लगी रहती है वहीं रविवार को छुट्टी का दिन होने के कारण बड़ी संख्या में ग्राहक खरीददारी के लिए बाजार में पहुंचते हैं, वह अपने वाहन जहां जगह मिली वहीं पार्क कर देते हैं, उन्हें रोकने के लिए ट्रेफिक पुलिस तैनात नहीं रहती.

Related Posts: