श्रीनगर,  हर हर महादेव तथा बम बम भोले के नारों के साथ तीर्थयात्रियों का पहला जत्था आज कड़ी सुरक्षा के बीच यहां आधार शिविर से पवित्र अमरनाथ गुफा के लिये रवाना हो गया। एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने बताया कि आतंकवादी इस यात्रा के दोनों मार्गों पर तीर्थयात्रियों को निशाना बना सकते है जिसे देखते हुए सुरक्षा में किसी प्रकार की कोई ढील नहीं दी गई है।

उन्होंने कहा कि बालटाल तथा नूनवान पहलगाम शिविर में पिछले कुछ दिनों से सैकड़ों तीर्थयात्री थे जिनमें कल जम्मू से आये 2,200 से अधिक तीर्थयात्रियों का जत्था भी शामिल हो गया। उन्होंने बताया कि बालटाल शिविर से आज सुबह अमरनाथ गुफा के लिये रवाना हुये तीर्थयात्रियों के जत्थे में महिलाएं तथा साधु भी शामिल थे। तीर्थयात्रियों को दोपहर तक पवित्र गुफा में जाकर स्वनिर्मित बर्फ के शिवलिंग का दर्शन करने हैं।

अधिकतर यात्री इसी मार्ग से आधार शिविर लौटेंगे। तीर्थयात्रियों के एक अन्य जत्थे ने चंदनवारी प्रस्थान करने के लिए नूनवान पहलगाम शिविर छोड़ दिया है जो वाहनों के जरिये पहुंचने का आखिरी शिविर है। अधिकारियाें ने बताया कि अधिकतर यात्री चंदनवारी में ही रात्रि विश्राम करेंगे और कल सुबह अगले पड़ाव के लिए रवाना हाे जाएंगे1 इस यात्रा को लेकर सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम किए गए हैं।

Related Posts:

जया-जेटली को जार्ज से मिलने की इजाजत नहीं
मुख्यमंत्री गए जापान-कोरिया की यात्रा पर
महबूबा मुफ्ती का जम्मू कश्मीर की पहली महिला मुख्यमंत्री बनना लगभग तय
जम्मू कश्मीर सरकार कहेगी तो जायरा को दी जा सकती है सुरक्षा : रिजिजू
महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर कृतज्ञ राष्ट्र ने नमन किया
उत्तराखंड में छिटपुट हिंसा के बीच 11 बजे तक 24 प्रतिशत मतदान