पिछली गलतियों से सबक ले उतरेगी टीम इंडिया

  • भारत-श्रीलंका के बीच दूसरा टेस्ट आज से विदर्भ मैदान पर,
  • विजय शंकर का इस मैच में
    पदार्पण हो सकता है,
  • शिखर और भुवनेश्वर इस मैच
    से रहेंगे बाहर.

नागपुर,

भारतीय क्रिकेट टीम उतार-चढ़ाव से भरे पहले ईडन गार्डन टेस्ट के बाद यहां कल से शुरू होने जा रहे दूसरे नागपुर टेस्ट में श्रीलंका के खिलाफ पिछली गलतियों से सबक लेते हुये बढ़त के इरादे से उतरेगी.
भारत को श्रीलंकाई टीम ने कोलकाता में हुये पहले टेस्ट में कड़ी टक्कर दी थी और अपने खिलाफ लगातार 10वीं जीत से भी वंचित किया.

इस मैच में बारिश की अहम भूमिका रही और टीम इंडिया की शुरूआत भी निराशाजक रही थी. लेकिन पांचवें दिन तक आते आते नंबर-एक टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने अपनी नाबाद 104 रन की शतकीय पारी से मुकाबला पलट कर रख दिया और मैच अंतत: ड्रा समाप्त हुआ.

हालांकि इस मैच में भी टीम इंडिया जीत से मात्र तीन विकेट ही दूर थी लेकिन खराब रौशनी ने श्रीलंका का साथ दिया. लेकिन इस बात में कोई संदेह नहीं की मेजबान टीम के बल्लेबाजों ने पहली पारी में खासा निराश किया और एक बार फिर दिखा दिया कि बहुत हद तक रनों के लिये विराट पर निर्भर हो गयी है जो शून्य पर आउट हुये तो चेतेश्वर पुजारा को छोड़कर फिर अन्य कोई बल्लेबाज खड़े होने का जज्बा ही नहीं दिखा सका.

श्रीलंका के खिलाफ तीन टेस्टों की सीरीज में अब दूसरा मैच जीतकर भारत के पास 1-0 की बढ़त लेने का सुनहरा मौका रहेगा जबकि विपक्षी टीम भी इस मैच में जीत के इरादे से उतरेगा. भाारतीय टीम में नागपुर में दो अहम बदलाव देखने को मिलेंगे जिसमें तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार शादी के चलते बाकी दोनों मैचों से बाहर रहेंगे तो शिखर नागपुर मैच में नहीं खेलेंगे.

भारतीय सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने भी माना है कि बल्लेबाजोंं के लिये इस तरह की पिचों पर खेलना आसान नहीं है और विदेशी दौरों में उन्हें इसी तरह की विकेटों पर खेलना होगा.

यदि ईडन की जीवंत पिच पर टीम इंडिया के बल्लेबाजी प्रदर्शन को देखा जाए तो पहली पारी में साफ दिखा कि राहुल, धवन, विराट, अजिंक्या रहाणे रविचंद्रन अश्विन सभी से विकेट को समझने में गलतियां हुईं और वह गलत शॉट खेलकर आउट हुये.

चेतेश्वर पुजारा एकमात्र ऐसे बल्लेबाज थे जिन्होंने विकेट पर टिककर रन बनाये और मुश्किल स्थिति में भी अर्धशतक पूरा किया और नागपुर में फिर से उनकी अहमियत रहेगी.

श्रीलंका को देखें तो अनुभवी एंजेलो मैथ्यूज, कप्तान दिनेश चांडीमल, निरोशन डिकवेला और लाहिरू तिरिमाने का प्रदर्शन ग्रीन पिच पर काफी अच्छा रहा. तिरिमाने और मैथ्यूज की अर्धशतकीय पारियां तथा नौवें बल्लेबाज रंगना हेरात की 67 रन की पारी से साफ था कि जब भारतीय बल्लेबाजी क्रम ढह गया तब श्रीलंकाई बल्लेबाज उनसे बेहतर साबित हुये.

माना जा रहा है कि दूसरे टेस्ट के लिये नागपुर की पिच को घास का कवर दे रखा है और कल दूसरा टेस्ट शुरू होने तक इसका ग्रीन टॉप स्वरूप बना रहेगा.संबंधित अधिकारियों के अनुसार मैच के पहले हॉफ में स्पिनरों की भूमिका मामूली रहेगी और वे अंतिम दो दिन ही कुछ असर छोड़ पाएंगे.

वैसे भी कोलकाता में अश्विन और रवींद्र जडेजा को ज्यादा मौका नहीं मिला था. इसलिये फिर से तेज गेंदबाजों की तिकड़ी पर भारतीय खेमा निर्भर रहेगा जिनपर मैच में 20 विकेट निकालकर बढ़त दिलवाने का दबाव होगा.

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टीम में शामिल किये गये तमिलनाडु के ऑलराउंडर विजय शंकर को ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या का बेहतरीन विकल्प बताते हुये उन्हें विदेशी दौरों पर टीम का हिस्सा बनाने के संकेत दिये हैं. विराट ने आज यहां दूसरे टेस्ट की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन में कहा कि शंकर निरंतर अच्छा खेल रहे हैं और इसलिये उन्हें टीम में जगह मिली है.

हमें एक और ऑलराउंडर की टीम में जरूरत है जो बल्लेबाजी के साथ मध्यम तेज गेंदबाजी के लिये भी उपयुक्त हो और हम इसे ध्यान में रखकर आगे का फैसला करेंगे. उन्होंने ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या को लेकर कहा कि निश्चित तौर पर हार्दिक हमारी पहली पसंद है लेकिन हमें आगे के लिये ऐसे और खिलाडिय़ों को चुनना होगा जिनमें इस तरह की क्षमता हो.

हम ऐसे खिलाडिय़ों पर और काम कर सकते हैं और वह विदेश दौरों पर ऑलराउंडर के तौर पर हमारे लिये अच्छा विकल्प बन सकते हैं.

Related Posts:

गेंदबाजों के सधे प्रदर्शन से भारत मजबूत
संगकारा, तिरिमाने ने दिलायी श्रीलंका को जीत
भारत के खिलाफ सेमीफाइनल में स्पिन की भूमिका नहीं होगी : जेम्स फाकनर
भारत-ए ट्ïवेंटी-20 अभ्यास मैच: मनदीप सिंह संभालेंगे कमान
भारतीय महिलाओं ने किया क्वालीफाई
सीनियर एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता : साक्षी, विनेश और दिव्या की चांदी