aolनई दिल्ली,  राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) ने आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर की संस्था आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन पर पांच करोड़ रुपये के जुर्माने के साथ यमुना किनारे होने वाले विवादों में घिरे विश्व संस्कृति महोत्सव को मंजूरी दे दी है. श्री श्री रविशंकर ने एनजीटी के इस फैसले पर असंतुष्टि जाहिर की है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एनजीटी के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने फैसले के कुछ देर बाद ट्वीट किया, अब जब एजीटी ने अपना फैसला दे दिया है, तो आर्ट ऑफ लिविंग के इस इवेंट पर राजनीति और विवादों पर विराम लग जाना चाहिए. यह विशाल आयोजन है, जिसमें 155 देशों से लोग आ रहे हैं. दिल्ली सभी मेहमानों का स्वागत करती है.

Related Posts:

6 साल के न्यूनतम स्तर पर महंगाई दर
क्रिकेट विश्व कप 2015 के दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 95 रनों से ह...
व्यापमं घोटाला: जांच को भोपाल पहुंची सीबीआई
आतंकवाद को समर्थन दे रहे देशों के खिलाफ हो कार्रवाई : जेटली
भारत के विशाल पारंपरिक ज्ञान का फायदा उठा सकता है ब्रिटेन : मोदी
वर्ष 2017-18 में 27 करोड़ टन खाद्यान उत्पादन का लक्ष्य