amit_shahअमित शाह जल्दी ही पार्टी संगठन में जरूरी फेरबदल व नई नियुक्तियां कर सकते हैं. प्रकोष्ठों के पुनर्गठन के साथ उनमें नई नियुक्तियां की जानी हैं, जबकि पदाधिकारियों के एक दर्जन से ज्यादा पद भरे जाने हैं. संसद सत्र के बाद केंद्र सरकार में भी छोटे फेरबदल की संभावना है. माना जा रहा है कि दोनों काम आस-पास होंगे. वहीं राज्यपालों के जो पद खाली है, उन पर बुजुर्ग नेताओं की स्थापना किये जाने की संभावना है.

Related Posts: