संघ कार्यकर्ताओं के लिए बसाया शहर, प्रांत संघ चालक का होगा चुनाव

नवभारत न्यूज सीहोर,

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मध्य भारत प्रांत का तीन दिवसीय शिविर 23 दिसंबर से शेरपुर में आयोजित किया जा रहा है. इसके लिए तीन एकड़ क्षेत्र में शहर बसाया गया है. संघ के कार्यकर्ताओं के लिए बसाए गए शिविर गुरु गोविंद सिंह नगर में चमकौर किले से स्वयं सेवक प्रवेश करेंगे. प्रवेश द्वार भी चमकौर के किले की तर्ज पर तैयार किया गया है.

शहर के नजदीक शेरपुर गांव के विशाल मैदान पर पिछले कई दिनों से व्यापक स्तर पर तैयारियों को अंजाम दिया जा रहा था. शनिवार से प्रारंभ हो रहे आरएसएस के शिविर में हजारों की संख्या में संघ के कार्यकर्ताओं की उपस्थिति को देखते हुए शिविर में सैकड़ों तंबुओं की व्यवस्था की गई है.

शहर के पास तीन दिन तक आबाद रहने वाले इस शहर को देखने के लिए शहर से भी कई लोग पहुंच रहे हैं. संघ के इस तीन दिवसीय शिविर के दौरान प्रांत संघ चालक का चुनाव भी किया जाएगा. अंतिम दिन प्रकट कार्यक्रम व हिंदू संगम का आयोजन किया जाएगा. इसमें संघ के अखिल भारतीय सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले मुख्य वक्ता के रूप में शामिल होंगे.

प्रदेश संघ के ओमप्रकाश सिसोदिया ने बताया कि इस वर्ग के लिए पूरा नगर बसाया गया है. जिसका नाम गुरु गोविंद सिंह जी के 350 वे प्रकाश पर्व पर गुरु गोविंद सिंह नगर रखा गया है. पूरे परिसर में दस गुरूओं के नाम से दस नगर बसाए गए हैं.

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मध्य भारत प्रांत खंड टोली शिविर का आयोजन 23 से 25 दिसंबर तक चलेगा. इस वर्ग में प्रदेश के मध्यभारत के मरैना, ग्वालियर, गुना, शिवपुरी, राजगढ़, विदिशा, भोपाल, नर्मदा पुरम संभाग के 31 जिलों के करीब 2100 स्वयं सेवक पहुंचेंगे.

शिविर में पांच छोटे बौद्धिक पंडाल जिसे स्वर्ण मंदिर नाम दिया गया है. यहां कार्यकर्ताओं को बौद्धिक प्रशिक्षण दिया जाएगा. शिविर में प्रांत संघ चालक का चुनाव होगा. इसके लिए किसी एक व्यक्ति का प्रस्ताव रखा जाएगा. यदि कोई अन्य भी इस पद के लिए प्रस्ताव रखता है तो चुनाव होगा. नहीं तो सर्व सहमति से उसी को प्रांत संघ चालक के पद पर पदस्थ कर दिया जाएगा.

शिविर का शुभारंभ 23 दिसंबर को अपरान्ह तीन बजे से स्वयं सेवकों के आगमन से शुरू होगा. बौद्धिक सत्र में सह क्षेत्र प्रचारक दीपक विशपुते उपस्थित होंगे. आरएसएस के तीन दिवसीय शिविर को देखते हुए प्रशासन द्वारा शिविर स्थल पर सुरक्षा के व्यापक इंतजामात किए गए हैं.

Related Posts: