bhagwatनई दिल्ली/कोलकाता,  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने एक बार फिर राम मंदिर का राग अलापा है. अयोध्या का विवादित बाबरी ढांचा टूटने के 25 साल बाद भी आरएसएस वहां पर भव्य मंदिर बनाने के लक्ष्य पर कायम है और इस बाबत संघ ने बीजेपी को एक बार फिर भगवान राम की याद दिलाई है.
भागवत ने संकेतों में मोदी सरकार को फिर याद दिलाया कि मंदिर निर्माण का संकल्प अब भी अधूरा है.

भागवत ने यहां एक कार्यक्रम में कहा कि सबसे बड़ा लक्ष्य मेरे जीवन काल में हकीकत बन सकता है. हो सकता हैं कि हम उसे अपनी आंखों से देखें. भागवत ने कहा कि कोई नहीं कह सकता कि मंदिर का कैसे और कब निर्माण होगा लेकिन हमें इसके लिए तैयारी करने और तैयार रहने की जरूरत है. भारतीय संस्कृति में सबको समाहित करने और हर किसी को साथ लेने में यकीन रखने वाला बताते हुए भागवत ने कहा ”हम विविधता में एकता की बात करते हैं.

Related Posts: