संयुक्त राष्ट्र,  संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया के छठे और सर्वाधिक शक्तिशाली परमाणु परीक्षण के परिप्रेक्ष्य में उसके खिलाफ प्रतिबंधों को सर्वसम्मति से मंजूरी दे दी है। उत्तर कोरिया ने गत तीन सितम्बर को यह परीक्षण किया था। उत्तर कोरिया के खिलाफ कल लगाये गये प्रतिबंधों के तहत उसे कच्चे तेल का निर्यात और वहां से कपड़ों का आयात किये जाने पर प्रतिबंध लगाया गया है।

उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल और परमाणु कार्यक्रमों को लेकर उसके खिलाफ 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद का यह नौंवा प्रतिबंध है। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निकी हेली ने कहा, “ अगर उत्तर कोरिया अपने परमाणु कार्यक्रमों पर रोक लगाता है तो भविष्य में प्रतिबंधों को वापस लिया जा सकता है। यदि वह खतरनाक रास्ते पर लगातार चलते रहेगा, तो हम उस पर निरंतर और भी दबाव बनाते रहेंगे।”

उन्होंने उत्तर कोरिया के खिलाफ प्रतिबंध प्रस्ताव के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच मजबूत संबंधों को श्रेय दिया। दूसरी तरफ रूस ने मौजूदा संकट के समाधान के लिए बिना किसी राजनीतिक पहल के उत्तर कोरिया के खिलाफ प्रतिबंधों को और कड़ा किये जाने की निंदा की है।

Related Posts: