modi1नई दिल्ली,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने संसद हमले के शहीदों को आज श्रद्धांजलि दी। 13 दिसम्बर,2001 में आज ही के दिन संसद पर हमला हुआ था। पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह, केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री नजमा हेपतुल्ला,राज्यसभा के उप सभापति प्रोफेसर पी जे कुरियन, पूर्व उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी इन शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए ।

श्रद्धांजलि देने वाले अन्य व्यक्तियों में संसद के कई वर्तमान और पूर्व सदस्य भी शामिल थे । लोकसभा के महासचिव अनूप मिश्र और राज्य सभा के महासचिव शमशेर के. शेरिफ तथा लोक सभा और राज्य सभा सचिवालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी श्रद्धासुमन अर्पित किए । इस अवसर पर भारतीय रेडक्रास सोसायटी ने संसद भवन में एक रक्तदान शिविर का आयोजन किया, जिसमें लोक सभा और राज्यसभा सचिवालयों तथा अन्य सहायक एजेन्सियों के अधिकारियों और कर्मचारियों ने बड़ी संख्या में रक्‍तदान किया।

गौरतलब है कि वर्ष 2001 में इसी दिन राज्य सभा सचिवालय के सुरक्षा सहायक जगदीश प्रसाद यादव और मातबर सिंह नेगी; केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल में कांस्टेबल कमलेश कुमारी, दिल्ली पुलिस में सहायक उप-निरीक्षक नानक चन्द और रामपाल, दिल्ली पुलिस में हेड कांस्टेबल ओम प्रकाश, बिजेन्द्र सिंह और घनश्याम तथा केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग में माली देशराज आतंकवादी हमले में संसद की रक्षा करते शहीद हो गये थे।

ए.एन.आई. के कैमरामैन विक्रम सिंह बिष्ट जो इस हमले में गंभीर रूप से घायल हो गए थे, उनका भी बाद में निधन हो गया था। जगदीश प्रसाद यादव, मातबर सिंह नेगी और कमलेश कुमारी को उनके निःस्वार्थ बलिदान के लिए मरणोपरांत अशोक चक्र से नवाजा गया था और नानक चन्द, रामपाल, ओम प्रकाश, बिजेन्द्र सिंह और घनश्याम को मरणोपरांत कीर्ति चक्र से अलंकृत किया गया था।

Related Posts: