parliamentनयी दिल्ली. ललित मोदी प्रकरण पर चर्चा कराने के लिए सरकार के तैयार होने के बावजूद मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के सदस्यों ने राज्यसभा में आज भारी हंगामा किया जिसके कारण मानसून सत्र के पहले ही दिन सदन की कार्यवाही कई बार स्थगन के बाद पांचवीं बार दिन भर के लिए स्थगित कर दी गयी। विपक्ष के हंगामे के कारण शून्यकाल तथा प्रश्नकाल नहीं हो सका तथा सदन की कार्यवाही पहले 12 बजे तक, फिर साढे 12 बजे , फिर दो बजे तथा चौथी बार तीन बजे और अंत में दिनभर के लिए स्थगित हो गयी।

भोजनावकाश के बाद उप सभापति पी. जे. कुरियन द्वारा ललित प्रकरण पर चर्चा कराने की विपक्ष की मांग स्वीकार किये जाने के बाद कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के इस्तीफे की मांग पर अड़ गये और सदन की कार्यवाही नहीं चलने दी। तीन बजे के स्थगन के बाद सदन की कार्यवाही शुरू होने पर उप सभापति ने सदन की कामकाज शुरू कराने की कोशिश की.

Related Posts: