21sadakभोपाल, 21 जून,नभासं. केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी के हाल के राज्य के दौरे के बाद ये साफ हो गया है कि सडकों को दुर्घटना मुक्त बनाने के काम को अब सर्वोच्च प्राथमिकता पर लिया जाएगा. सड़क की गलत डिजाइन या निर्माण संबंधी किसी लापरवाही से राष्ट्रीय राजमार्ग पर दुर्घटना में हुयी मौत के प्रकरण गंभीर होंगे.
ऐसे मामलों में जिम्मेदार व्यक्तियों पर प्राथमिकी भी दर्ज करायी जाएगी.

सूत्रों ने कहा कि गड़करी ने शनिवार को राजधानी में उच्च स्तरीय बैठक में यह बात कही है. राज्य के लोक निर्माण विभाग के मंत्री सरताज सिंह और अधिकारियों की मौजूदगी में यह बैठक आयोजित की गई थी. इधर,मध्यप्रदेश राज्य सड़क विकास निगम द्वारा की गयी समयबद्ध लक्ष्यपूर्ति के मद्देनजर सड़क विकास के लिये निगम को 5000 करोड़ रूपयों तक के कार्य कराए जा सकेंगे.

28 हजार करोड़ खर्च होंगे
इन पर काम कर रही निर्माण कम्पनियों को कार्य पूर्ण करने के लिये एक हफ्ते में निश्चित कार्य-योजना प्रस्तुत करना होगी. गौरतलब है अब राष्ट्रीय राजमार्ग से जुडी सभी सडकें सीमेंट कांक्रीट से बनायी जाएंगी. ऐसा करने से कई वर्षों तक सडकों के रखरखाव में दिक्कतें नहीं आएंगी. इधर,राज्य में राष्ट्रीय राजमार्ग से जुडीं लगभग पांच हजार किलोमीटर लंबी सडकें बनाने के लिए 28 हजार करोड रूपए व्यय किए जाएंगे.

Related Posts: