bpl1भोपाल,  प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर हजारों काग्रेंस कार्यकर्ताओं ने बुधवारा चौराहे पर जमा होकर प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया. बाद में प्रदर्शनकारियों ने विधान सभा का घेराव करने के लिये आगे बढने का प्रयास किया. लेकिन उन्हें वहीं गिरफ्तार कर लिया गया. बाद में उन्हें रिहा भी कर दिया गया. प्रदर्शनकारियों का कहना था कि प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था को ठीक किया जाए और सांप्रदायिक दंगों को रोका जाए.

सुबह से ही आ डटी थी पुलिस
सुबह से ही इस घेराव को लेकर एडीएम बीएस जामौद और शहर के दोनों एसपी अरविंद सक्सेना और अंशुमन सिंह भारी पुलिस बल के साथ यहां मौजूद थे.

सांप्रदायिक घटनाओं में वृद्धि
इस दौरान बुधवारा चारबत्ती चौराहे पर सभा को संबोधित करते हुये म.प्र. काग्रेस कमेटी के पूर्व प्रवक्ता आरिफ मसूद ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुये कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमराई हुई है. लूट, हत्याएं आदि बढ़ रही हैं वहीं प्रदेश में सांप्रदायिक उन्माद की घटनाओं में वृद्धि हो रही है. मसूद ने सरकार पर यह भी आरोप लगाया कि प्रदेश में अस्थिरता और भय पैदा करने के लिए के कई जिलों में सुनियोजित तरीके से दंगे भड़काए गए हैं.

कई नेताओं ने की शिरकत
सभा को संबोधित करने वालों में नगर निगम पूर्व अध्यक्ष कैलाश मिश्रा, पार्षद अमित शर्मा, म.प्र. कांग्रेस कमेटी के पूर्व सचिव अब्दुल नफीस, पार्षद रफीक कुरैशी, रईसा मलिक, शाहवर मंसूरी, मेवालाल कनर्जी आदि ने भी संबोधित किया.

Related Posts: