नयी दिल्ली,  वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि नरेन्द्र मोदी सरकार ने किसी बड़े उद्योग अथवा उद्योगपति का कर्ज माफ नहीं किया है, एक टेलीविजन चैनल के कार्यक्रम को संबोधित करते हुये श्री जेटली ने आज कहा कि यह ऋण 2008 से 2010 के बीच का है, बैंकों की गैर निष्पादित राशि (एनपीए) की समस्या बहुत पुरानी है।

उन्होंने कहा कि पाप कोई और करके गया जिसके हल करने की जिम्मेदारी मौजूदा सरकार पर आ गयी है।

गौरतलब है कि किंगफिशर मालिक विजय माल्या पर बैँकों की मोटी रकम और उनके विदेश भाग जाने को लेकर मोदी सरकार निशाने पर रही है।

Related Posts: