नई दिल्ली,

वित्त वर्ष 2017-18 में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 6.5 फीसदी रहने का अनुमान लगाया गया है, जबकि वित्त वर्ष 2016-17 में अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 7.1 फीसदी थी. सेंट्रल स्टैटिस्टिक्स ऑफिस (सीएसओ) के द्वारा जारी आंकड़ों से यह बात सामने आई है.

हालांकि सीएसओ की इस रिपोर्ट में साल 2017-18 के दौरान प्रतिव्यक्ति आय में 5.3 फीसदी बढ़ोतरी का अनुमान जताया गया है जो एक अच्छी ख़बर है.वहीं साल 2017-18 के लिए जीवीए यानी ग्रॉस वैल्यू ऐडेड का अनुमान भी घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया गया है. इससे पहले आरबीआई ने साल 2017-18 के लिए जीवीए के 6.7 होने का अनुमान लगाया था.

 

 

Related Posts: