भोपाल,  प्रदेश में शांति बहाली के लिए गांधीवादी स्टाइल अपनाने के दूसरे दिन सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अपना उपवास तोड़ दिया. बीजेपी के वरिष्ठ नेता कैलाश जोशी ने शिवराज को नारियल पानी पिलाकर उनका उपवास तुड़वाया.

उपवास तोडऩे के पहले शिवराज सिंह ने एक बार फिर किसानों के साथ होने की बात दोहराई साथ ही हिंसा के लिए जिम्मेदार तत्वों पर कार्रवाई की बात कही.
शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वह एसी कमरों में बैठने वाले सीएम नहीं हैं.

उन्होंने कहा, जब-जब किसानों पर संकट आया, मैं मंत्रालय, सीएम हाउस से निकलकर खेतों तक गया. सीएम ने अपने संबोधन में भारतीय किसान संघ जैसे संगठनों को साथ देने के लिए शुक्रिया भी कहा. एमपी के सीएम ने एक बार फिर मध्य प्रदेश में हिंसक प्रदर्शन करने वालों को अराजक तत्व कहा. शिवराज सिंह ने कहा कि कोई भी किसान दूध नहीं फेंक सकता. दूध फेंकने का काम अराजक तत्वों का है.

Related Posts: