nitishसीएम नीतीश ने निशाना साधते हुए कहा कि मोहन भागवत के बयान मामले पर पीएम की चुप्पी इस बात को बल देती है कि उनकी सरकार संघ के दबाव में चल रही है और आरक्षण व्यवस्था पर पुनर्विचार कर रही है।

Related Posts:

अन्ना की विश्वसनीयता घटी
2005 से पूर्व पिता की हुई मौत तो बेटी को नहीं मिलेगा पैतृक संपत्ति में बराबरी का...
इशरत को कभी नहीं कहा बिहार की बेटी
कावेरी विवाद : मोदी की लोगों से संयम बरतने की अपील
दरकी चट्टान 50 की मौत, हिमाचल में बादल फटने के बाद भूस्खलन का कहर
भाजपा ने महापौर और स्थायी समिति अध्यक्ष के उम्मीदवार घोषित किए