मुरैना,  सेवा सहकारी संस्था रजौधा द्वारा किसान के्रडिट कार्ड के नाम पर 97 लाख से अधिक राशि का घोटाला होने का मामला सामने आया है.
जिला सहकारी बैंक की शिकायत पर चिन्नौनी थाने में तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. जिनमें जौरा विधायक सूबेदार सिंह रजौधा की पत्नी श्रीमती सियाबाई सिकरवार, चाचा राजपाल सिंह शामिल है.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सेवा सहकारी संस्था रजौधा में वर्ष 2010 से 2014 के बीच समिति अध्यक्ष श्रीमती सियाबाई सिकरवार, प्रबंधक रामलला शर्मा, संचालक मण्डल अध्यक्ष राजपाल सिंह यादव के द्वारा किसान के्रडिट कार्ड के निकासी फॉर्म और लेजर में ओव्हरराईटिंग के जरिए हेराफेरी कर 97 लाख 37 हजार 960 रूपये की राशि का गबन कर लिया गया. जांच के दौरान जब मामला सामने आया.

तब जिला सहकारी बैंक कैलारस के अधिकारियों द्वारा पूरे मामले की जांच की गई. जांच में वर्तमान अध्यक्ष सियाबाई सिकरवार, पूर्व अध्यक्ष राजपाल सिंह यादव सहित प्रबंधक रामलला शर्मा को दोषी पाया गया और शाखा प्रबंधक द्वारा चिन्नौनी थाने मेें एफआईआर दर्ज कराए जाने का आवेदन प्रस्तुत किया गया. पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 409, 467, 420, 468, 471 के तहत मामला दर्ज कर लिया है. उन्होंने कहा कि घोटाले में बैंक कर्मचारी शामिल है.

संस्था के पदाधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का अधिकार उप पंजीयक को है, लेकिन बैंक कर्मचारियों ने उप पंजीयक से मामले की जांच कराए बगैर ही मामला दर्ज कराया गया है. जिसकी उनके द्वारा जांच कराई जाएगी और जांच के बाद जिम्मेदार बैंक कर्मचारियों के खिलाफ मामला भी दर्ज कराया जाएगा. विधायक श्री रजौधा ने कहा कि लगातार बढ़ रही उनकी लोकप्रियता से राजनीतिक विरोधियों मेें हताश है.

Related Posts: