03kkk2सिडनी, 3 मार्च. दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम ने मंगलवार को आईसीसी विश्व कप में एक पारी में दूसरे सर्वोच्च स्कोर के अपने ही पुराने रिकॉर्ड में सुधार किया. मानुका ओवल मैदान पर जारी आईसीसी विश्व कप-2015 के पूल-बी मुकाबले में आयरलैंड के सामने पहले बल्लेबाजी करते हुए द. अफ्रीका ने चार विकेट के नुकसान पर 411 रन बनाए और विश्व कप के पिछले ही मैच में बनाए अपने रिकॉर्ड में सुधार किया.

गौरतलब है कि विश्व कप में सबसे बड़ी पारी का रिकॉर्ड भारत के नाम है. भारत ने 2007 विश्व कप में बरमुडा के खिलाफ पांच विकेट पर 413 रन बनाए थे. हशिम अमला (159) और फाफ दू प्लेसिस (109) ने इसमें बड़ी भूमिक निभाई और ङ्क्षक्वटन डी कॉक (4) का विकेट गिरने के बाद दूसरे विकेट के लिए दोनों खिलाडिय़ों ने 247 रनों की साझेदारी की. विश्व कप इतिहास में दक्षिण अफ्रीका की ओर से दूसरे विकेट के लिए यह सबसे बड़ी साझेदारी है.

यह पहला मौका है जब किसी टीम ने विश्व कप के एक ही टूर्नामेंट में दो बार 400 या उससे अधिक का स्कोर हासिल किया है. द. अफ्रीका ने इससे पहले 27 फरवरी, 2015 को सिडनी में वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच विकेट पर 408 रन बनाए थे. वेस्टइंडीज के खिलाफ उस पारी में दक्षिण अफ्रीकी टीम के कप्तान अब्राहम डिविलियर्स (नाबाद 162) ने तूफानी पारी खेली थी.

डिविलियर्स ने उस मैच में विश्व कप का दूसरा सबसे तेज शतक लगाया था. डिविलियर्स ने 52 गेंदों पर शतक पूरा किया. साथ ही उन्होंने अपनी 162 रनों की नाबाद पारी के दौरान अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय में सबसे तेज 150 रन पूरे किए. विश्व कप में यह तीसरा मौका है जब टीमों ने 400 या उससे अधिक का योग खड़ा किया है. श्रीलंकाई टीम 1996 में कैंडी में केन्या के खिलाफ पांच विकेट पर 398 रन बनाकर इसके करीब पहुंची थी, लेकिन वह दो रनों के अंतर से विश्व कप में 400 का स्कोर छूने से चूक गई थी.

Related Posts: