श्योपुर,  किराए से वाहन ले जाने के नाम पर चालक का अपहरण कर ले गए बदमाशों ने साढ़े तीन लाख रूपए की फिरोती लेकर अपह्त तो छोड़ दिया है, लेकिन बदमाश पकड़ से दूर बने हुए है, जिसकी तलाश में पुलिस सरगर्मी से जुट गई है।

जानकारी के अनुसार ग्रामीण थाना क्षेत्र के ग्राम जलालपुरा झोपडिय़ा निवासी देवीशंकर माली के पास बोलेरो वाहन है, जिसे वह कभी-कभार किराए से चलाता है तथा विगत शनिवार को चार लोग शिक्षक बनकर कराहल क्षेत्र में पार्टी होने की बात कहकर प्रेमसर से उसके बोलेरो को किराए से ले गए थे तथा गोरस-मुरैना हाइवे पर दो लोग उसे हथियारों की दम पर गाड़ी से उतारकर जंगल ले गए, जहां उन्होंनेे पहले अपहत की मारपीट की एवं धमकाते हुए घरवालों को फिरोती ही राशि लाने के लिए फोन करवाया, साथ ही बदमाशों ने पीडि़त परिवार को पुलिस को बताने व चालबाजी करने पर देवीशंकर को मारने की धमकी भी दी।

बताया गया है कि देवीशंकर परिवार का एकलौता पुत्र है तथा उसके अपहरण की घटना के बाद परिवार डर गया और उन्होंने जैसे-तैसे फिरोती की रकम का इंतजाम करते हुए न केवल बदमाशों तक पहुंचाई, बल्कि अपने एकलौते लाल को भी छुड़वाया।

सूत्रों का कहना था कि देवीशंकर के अपहरण की घटना के बाद परिजन पुलिस के पास भी पहुंचे थे, लेकिन पुलिस ने पहले युवक को छुड़ाने की बात कहकर वापस लौटा दिया था। हालांकि इस मामले में पुलिस ने एक बदमाश धारासिंह निवासी टेंटरा जिला मुरैना को चिन्हित कर लिया है।

Related Posts: