prachiबहराइच, 18 मार्च. साध्वी प्राची ने मंगलवार को बहराइच में एक बार फिर विवादित बयान दिया है. साध्वी ने कहा कि देश को आजादी महात्मा गांधी के तकली कातने से नहीं मिली बल्कि यह सावरकर, भगत सिह, राम प्रसाद बिस्मिल जैसे क्रांतिकारियों के बलिदान की देन है. साध्वी ने महात्मा गांधी को अंग्रेजों का एजेंट करार दिया.

साध्वी प्राची विश्व हिदू परिषद के स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित विराट हिदू सम्मेलन को संबोधित कर रही थीं. गो हत्या को लेकर आक्रामक रवैया अपना रहीं साध्वी ने कहा कि अंग्रेजों के जमाने में महज 300 कत्लगाह थे, जो अब 30 हजार हो गए हैं. प्राची ने कहा कि संतों का अपमान करने वाली कांग्रेस का हश्र सामने है.

साध्वी ने कहा कि तिरंगा व गाय का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. उन्होंने मस्जिद पर सुब्रमण्यम स्वामी के बयान का समर्थन किया. प्राची ने अलगाववादी नेता मसर्रत की रिहाई पर केंद्र सरकार को भी नहीं बख्शा. उन्होंने कहा कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जेल में और मसरत आजाद घूमे, इसे हिंदू समाज बर्दाश्त नहीं कर सकता.

Related Posts: