sania_hingisसिंगापुर, विश्व की नंबर-एक महिला जोड़ी भारत की सानिया मिर्जा और उनकी जोड़ीदार स्विटजरलैंड की मार्टिना हिंगिस ने साल के अपने स्वप्निल प्रदर्शन का समापन रविवार को डब्ल्यूटीए फाइनल्स टूर्नामेंट में आसान खिताबी जीत के साथ किया. यह उनका साल का नौंवा खिताब रहा.

सानिया और हिंगिस ने खिताबी मुकाबले में स्पेन की गरबाइन मुगुरुजा और कार्ला सुआरेज नवारो की जोड़ी को एक घंटे के समय में 6-0, 6-3 से पीट दिया और एक साथ साल का नौंवा खिताब जीत लिया. इससे पहले दोनों खिलाड़ी 2015 का समापन दुनिया की नंबर-एक जोड़ी के रूप में सुनिश्चित कर चुकी थी. सानिया ने इस तरह टूर्नामेंट में अपना खिताब बरकरार रखा. उन्होंने गत वर्ष जिम्बाब्वे की कारा ब्लैक के साथ गत वर्ष यह खिताब जीता था. विश्व रैंकिंग में नंबर-वन सानिया का व्यक्तिगत तौर पर 2015 में यह दसवां खिताब रहा. सानिया-हिंगिस का साल का यह दसवां फाइनल था. डब्लूटीए फाइनल से पहले इस जोड़ी ने इंडियन वेल्स, मियामी, चाल्र्सटन, ग्वांगझू, वुहान और बीजिंग के अलावा विम्बलडन और यूएस ओपन के ग्रैंडस्लेम खिताब भी जीते थे. दोनों रोम में उप-विजेता रही थी. अपने करियर के सबसे बेहतरीन साल में सानिया ने जहां व्यक्तिगत रूप से दस खिताब जीते वहीं हिंगिस ने अपना 50वां डब्ल्यूटीए युगल खिताब जीत लिया. वह यह उपलब्धि हासिल करने वाली दुनिया की 16वीं खिलाड़ी बन गई. सानिया-हिंगिस ने इस जीत के साथ अपना अपराजेय क्रम 22 मैच पहुंचा दिया है.

Related Posts: