भोपाल,  मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 31 अक्टूबर की रात प्रशासनिक सेवा की तैयारी कर रही छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म मामले में आज यहां की एक फास्टट्रेक अदालत ने चारों अारोपियों को दोषी ठहराते हुए अंतिम सांस तक कैद की सजा सुनाई।

न्यायाधीश सविता दुबे ने घटना के 52 दिन बाद सुनाए अपने फैसले में चारों आरोपियों गोलू बिहारी, अमर छोटू, रमेश और राजेश को दोषी करार दिया और उन्हें अंतिम सांस तक उम्रकैद की सजा सुनाई।

सजा सुनाए जाने के समय चारों आरोपी अदालत में मौजूद थे।

Related Posts: