यामागूची से मात्र 34 मिनट में मुकाबला जीता,
यामागूची को 21-12, 21-19 से क्वार्टर फाइनल में हराया,
अब मुकाबला थाईलैंड की रत्चानोक इंतानोन से

कोलून,

ओलंपिक पदक विजेता और देश की स्टार महिला शटलर पीवी सिंधू ने आज पांचवीं सीड जापान की अकाने यामागूची को 21-12, 21-19 से हराकर चार लाख डॉलर की इनामी राशि वाले हांगकांग ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया.

विश्व की तीसरे-नंबर की महिला खिलाड़ी सिंधू ने यामागूची से यह मुकाबला 37 मिनट में जीत लिया. भारतीय खिलाड़ी का सेमीफाइनल में अब छठी सीड थाईलैंड की रत्चानोक इंतानोन के साथ मुकाबला होगा जिनके खिलाफ सिंधू का 1-4 का करियर रिकार्ड है.

सिंधू और यामागूची के बीच यह मुकाबला काफी हाईप्रोफाइल माना जा रहा था. दोनों के बीच यह छठा करियर मुकाबला था जिसमें अब सिंधू ने अपना करियर रिकार्ड 4-2 पहुंचा दिया है. सिंधू ने इस जीत के साथ ही जापानी खिलाड़ी से इस वर्ष फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में मिली हार का बदला भी चुका लिया.

टूर्नामेंट में एकमात्र भारतीय खिलाड़ी बचीं सिंधू को पिछले सप्ताह चाइना ओपन के क्वार्टर फाइनल में हार का सामना करना पड़ा. लेकिन यहां उन्होंने इस गतिरोध को तोड़ा और सेमीफाइनल में जगह बना ली.
भारतीय खिलाड़ी ने मैच में अच्छी शुरूआत की और जल्द ही 6-2 की बढ़त बना ली. सिंधू ने यहां से पीछे मुड़कर नहीं देखा.

उन्होंने अपनी बढ़त को 10-4, 13-8, 15-9 और 18-11 पहुंचाते हुये पहला गेम आसानी से 21-12 पर समाप्त कर दिया. दूसरे गेम में सिंधू ने लगातार तीन अंक लिये और 3-0 से आगे हो गयी. यामागूची ने लगातार चार अंक लेकर 4-3 की बढ़त बनाई.

इस गेम में 8-8 के स्कोर पर यामागूची ने लगातार पांच अंक लेकर 13-8 की बढ़त बना ली. इस समय ऐसा लग रहा था कि मैच निर्णायक गेम में जाएगा. जापानी खिलाड़ी फिर 16-11 और 17-13 से आगे हो गयी. सिंधू ने वापसी करते हुये स्कोर को 16-17 पहुंचाया.

यामागूची ने स्कोर 18-16 किया. लेकिन सिंधू ने लगातार चार अंक लेकर 20-18 की बढ़त बनाई और मैच अंक पर पहुंच गयी. यामागूची ने स्कोर फिर 19-21 किया लेकिन सिंधू ने 21-19 से गेम और मैच समाप्त कर दिया.

और सेमीफाइनल में पहुंच गयी. सिंधू की सेमीफाइनल की प्रतिद्वंद्वी इंतानोन के खिलाफ उनका आखिरी बार मुकाबला पिछले साल मलेशिया ओपन में हुआ था. सिंधू ने इंतानोन पर पांच मुकाबलों में एकमात्र जीत 2015 में कोरिया ओपन में दर्ज की थी.

Related Posts: