ujjainभोपाल,  रेलवे द्वारा आगामी 22 अप्रैल से 21 मई तक उज्जैन में होने वाले सिंहस्थ में यात्रियों की सुविधा के लिये व्यापक इंतजाम किये गये हैं। उज्जैन के साथ-साथ आसपास के स्टेशन पर भी अनेक महत्वपूर्ण कार्य किये गये हैं।

रेल राज्य मंत्री श्री मनोज सिन्हा ने बताया कि सिंहस्थ के दौरान उज्जैन आने वाले श्रद्धालुओं की बड़़ी संख्या को देखते हुए उज्जैन रेलवे स्टेशन के साथ-साथ नागदा, विक्रम नगर, क्षिप्रा ब्रिज, फतेहाबाद, नईखेड़़ी, चिंतामन गणेश, पिंगलेश्वर, इंदौर, रतलाम, पावसा और मोहनपुरा जैसे आसपास के सेटेलाइट स्टेशनों पर अनेक कार्य किये गये हैं। कुछ स्वीकृत कार्य पूरे हो गये हैं और कुछ प्रगति पर हैं।

उज्जैन रेलवे स्टेशन पर अनेक कार्य पूरे किये जा चुके हैं। इनमें प्लेटफार्म नम्बर-2, 3 और 6, 7 पर शेल्टर में सुधार, प्लेटफार्म नम्बर, 1, 2, 3, 4, 5 के प्लेटफार्म में सुधार, आसपास के क्षेत्रों में सुधार कार्य, प्लेटफार्म नम्बर-1 पर नागदा की तरफ बैठने की छायादार व्यवस्था, भोपाल की तरफ अतिरिक्त पैदल ओवर-ब्रिज, नागदा की तरफ पैदल ओवर-ब्रिज का विस्तार और नीलगंगा कॉलोनी की तरफ सर्कुलेटिंग एरिया का विकास और अतिरिक्त प्रवेश शामिल हैं।

अनेक कार्य चल रहे हैं। इनमें आउट टू आउट फुट ओवर-ब्रिज, पेयजल व्यवस्था में सुधार, रेलों के आने-जाने के मल्टी लाइन डिस्प्ले बोर्ड शामिल हैं। विक्रम नगर रेलवे स्टेशन पर पेयजल व्यवस्था और शौचालय सुविधाओं तथा सर्कुलेटिंग एरिया में सुधार का कार्य पूरा हो चुका है।

पावसा और मोहनपुरा स्टेशन पर अस्थाई हॉल्ट स्टेशन बनाये जा रहे हैं। नागदा रेलवे स्टेशन पर कोटा की तरफ इंटनकनेक्टिंग फुट ओवर-ब्रिज को बदलने, रेलों के आने-जाने की सूचना के लिये मल्टी लाइन डिस्प्ले बोर्ड, प्लेटफार्मों को ऊँचा करने और प्लेटफार्म नम्बर-4, 5 पर शेड डालने आदि के काम हाथ में लिये गये हैं।

इंदौर रेलवे स्टेशन पर रेलों के आने-जाने की सूचना के लिये मल्टी लाइन डिस्प्ले बोर्ड लगाये जा रहे हैं। नईखेड़़ी और पिंगलेश्वर स्टेशनों पर पीने के पानी के नल और शौचालयों का काम पूरा किया जा चुका है। टिकिट बुकिंग के लिये अतिरिक्त काउंटर खोला जाना भी प्रस्तावित है।

Related Posts: