ujjain5भोपाल,  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आस्था और अाध्यात्म के महाकुम्भ सिंहस्थ 2016 के सानंद संपन्न होने एवं इसे सफल बनाने के लिए सभी का आभार प्रकट किया है।

मुख्यमंत्री ने करोड़ों श्रद्धालुओं, संत समुदाय, महामंडलेश्वरों, अखाड़ा प्रमुखों, मुनियों, अखाड़ा परिषद और सभी धर्मों के गुरुओं को सहयोग, समर्थन, मार्गदर्शन और भागीदारी के लिए सादर नमन करते हुए उन्हें धन्यवाद दिया है।
आधिकारिक जानकारी के मुताबिक श्री चौहान ने कहा कि प्राकृतिक आपदा के

बाद श्रद्धालुओं ने धैर्य का परिचय दिया और प्रशासन, जन सहयोग, स्वयं-सेवकों और स्थानीय नागरिकों की मदद से व्यवस्था को चंद घंटों में पुनः स्थापित कर दिया गया। सिंहस्थ को अबाध जारी रखने में सभी संबंधित लोगों ने जो तत्परता दिखाई, वह अत्यंत सराहनीय और अविस्मरणीय है।

श्री चौहान ने महाकुम्भ के सफल आयोजन में से जुड़े विभाग एवं अधिकारी- कर्मचारी, सफाईकर्मियों और उज्जैनवासियों को भी उनके समर्पण भाव के लिए धन्यवाद दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि करोड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं को मार्गदर्शन देना, सूचना देना, मदद करना, बुजुर्गों, महिलाओं और दिव्यांगों को स्नान घाट तक पहुँचाना चुनौतीपूर्ण कार्य था, लेकिन पूरी दक्षता के साथ इसे पूरा किया गया। होमगार्ड से लेकर सभी पुलिस बल ने अपनी सतर्कता से किसी प्रकार की अप्रिय घटना नहीं होने दी। अखाड़ा परिषद और सभी अखाड़ों, देशी और विदेशी मीडिया, विद्वानों, स्वयंसेवी और सामाजिक संगठनों, धार्मिक संस्थाओं को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए उन्होंने कहा कि उनका पूरा सहयोग सरकार को मिला। इससे आस्था और विश्वास का यह पर्व सानंद सम्पन्न हुआ।

Related Posts:

पर्यटन के लिए मप्र आने पर 40 फीसदी छूट मिलेगी उप्र के लोगों को
सोनिया की इफ्तार पार्टी से सपा व वाम दलों ने बनाई दूरी
1993 ब्लास्ट: सुप्रीम कोर्ट में याचिका खारिज, नागपुर जेल में बंद याकूब को 30 को...
दो कैप्टन समेत 5 शहीद, 1 आतंकी ढेर
दिल्ली-एनसीआर में कल से नहीं चलेंगी डीजल टैक्सियां
कश्मीर में जनजीवन लगातार 60वें दिन प्रभावित