Silksmitha80 के दशक में साउथ फिल्मों में सिल्क स्मिता का जादू ऐसा चला जिसे लोग आज भी भूला नहीं सके हैं. सिल्क का जन्म 2 दिसंबर, 1960 को आंध्रप्रदेश में राजमुंदरी के एल्लुरू में हुआ था.

साल 2011 में विद्या बालन की फिल्म द डर्टी पिक्चर ने बॉलीवुड और बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा दिया था. इस कामयाबी के अभिनेत्री सिल्क स्मिता को जाती है. द डर्टी पिक्चर की कहानी सिल्क स्मिता की कहानी थी. सिल्क स्मिता ने चौथी क्लास में ही पढ़ाई छोड़ दी. इसके बाद वो फिल्मों में मेकअप असिस्टेंट का काम करने लगीं. स्मिता शूटिंग के दौरान हीरोइन के चेहरे पर टच अप का काम किया करती थीं. फिल्मी चकाचौंध को देखकर ही उनकी आखों में भी हीरोइन बनने का सपना सजने लगा.

स्मिता को 1978 में कन्नड़ फिल्म बेदी में पहली बार काम करने का मौका मिला. हालांकि, उन्हें बड़ा ब्रेक वांडीचक्रम (1979) से मिला. इस फिल्म की कामयाबी से उनका नया नाम सिल्क हो गया. सिल्क का जादू इंडस्ट्री में चलने लगा था. उनके फैन्स इतने ज्यादा बढ़ चुके थे कि हर डायरेक्टर फिल्म में उनका एक गाना जरूर डालना चाहता था. ऐसे में सिल्क एक दिन में 3-3 शिफ्ट किया करती थी. वो एक गाने के लिए 50 हजार रुपए तक लेती थीं. लगातार फिल्मों के चलते उन्होंने 10 सालों में करीब 500 फिल्मों में काम कर लिया.

ऐसे में उनके एक करीबी मित्र ने उन्हें प्रोड्यूसर बनकर और पैसे कमाने का लालच दिया, जिसके बाद उन्हें पहली दो फिल्मों में ही 2 करोड़ रुपए का घाटा हो गया. उन फिल्मों में हुए घाटे का असर उनके निजी जीवन पर भी हुआ और मानसिक तौर पर वो काफी कमजोर हो गईं.

23 सितंबर, 1996 को सिल्क स्मिता की लाश उनके ही घर में पंखे से झूलती पाई गई. उनकी मौत की खबर ने साउथ फिल्म इंडस्ट्री को हिलाकर रख दिया. सांवली सूरत की हॉट एक्ट्रैस सिल्क ने सुसाइड कर इस इंडस्ट्री के अंदर की सच्चाई के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया. आज तक कोई निश्चित तौर पर नहीं कह सकता कि सिल्क ने सुसाइड क्यों किया. सिल्क जाते-जाते अपने पीछे कई अनसुलझी पहेलियां छोड़ गई. सिल्क स्मिता ने क्या सच में इन सब कारणों के चलते अपनी जिंदगी खत्म कर ली या इसका कोई और कारण था.