नई दिल्ली,

एक बड़ा फैसला लेते हुए रक्षा मंत्रालय ने दो साल पहले के फैसले को वापस ले लिया है जिसमें उसने सिविलियन और मिलिटरी ऑफिसर्स के रैंक को बराबरी पर लाया था. इसको लेकर सेना में काफी नाराजग़ी भी थी.

रक्षा मंत्रालय ने कहा, सैन्य अधिकारियों और सेना मुख्यालय के सिविल अधिकारियों (एएफएचक्यू सीएस) की समानता को लेकर जारी किया गया 18 अक्टूबर, 2016 के रक्षा मंत्रालय के आदेश को वापस लिया जाता है.

इसमें कहा गया है कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन के निर्देश पर इस आदेश को वापस लिया जाता है. साथ ही कहा गया है कि एएफएचक्यू सीएस के काडर रिस्ट्रक्चरिंग को लागू किया जाएगा. इसमें कहा गया है, कैबिनेट की मंजूरी के बाद सर्विस हेड क्वार्टर से विचार-विमर्श करके पदों का सृजन किया जाएगा. सेना के अधिकारियों में इस समान स्टेटस दिये जाने को लेकर काफी असंतोष था.

Related Posts: