bpl1भोपाल,  माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता और संचार विश्वविद्यालय की ओर से होमगार्ड बल को तकनीकी उन्नयन और कार्य क्षमता विकास के क्षेत्र में सहयोग प्रदान किया जाएगा.

होमगार्ड बल नागरिक सुरक्षा के क्षेत्र में मैदानी कार्य के साथ-साथ जन जागरण का कार्य करता है. उसके इस कार्य को गति देने के लिए विश्वविद्यालय की ओर से लघु फिल्मों का निर्माण किया जाएगा और एक मासिक पत्रिका के प्रकाशन में संपादकीय सहयोग दिया जाएगा. इसके साथ प्रचार-प्रसार से संबंधित अन्य कार्यों में विश्वविद्यालय होमगार्ड बल का सहयोग करेगा. इस संबंध में दोनों संस्थानों के बीच बुधवार को एक ‘संस्थागत सहयोग सहमतिÓ हुई.

इस सहमति पत्र पर विश्वविद्यालय की और से कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला और होमगार्ड एवं सिविल डिफेंस की और से महानिदेशक मैथिलीशरण गुप्त ने हस्ताक्षर किये. इस अवसर पर होमगार्ड एवं सिविल डिफेंस के महानिदेशक गुप्त ने कहा कि आपदा के समय लोगों की जान बचाने में प्रशिक्षित स्वयंसेवक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. सिविल डिफेंस में स्वयंसेवकों को आठ श्रेणियों में बांटा गया है.

इनमें से एक महत्वपूर्ण श्रेणी मीडिया की समझ रखने वाले स्वयंसेवकों की है. पत्रकारिता विश्वविद्यालय के सहयोग से होमगार्ड विभाग इन आठ श्रेणियों के स्वयंसेवकों को प्रशिक्षित करने के लिए लघु फिल्मों का निर्माण कराएगा. उन्होंने कहा कि पंचायत स्तर तक आपदा के समय राहत कार्य करने वाले सहयोगी तैयार करने की योजना है.

इसके लिए सिविल डिफेंस के संबंध में ज्यादा से ज्यादा जन जागरण करने में विश्वविद्यालय का सहयोग लिया जाएगा. वहीं, कुलपति प्रो. ब्रज किशोर कुठियाला ने कहा कि प्रशासन का दायित्व होता है कि वह लोगों को शारीरिक और मानसिक सुरक्षा का भरोसा प्रदान करे.

Related Posts: