खंडवा,  मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान बुधवार शाम अचानक परिवार सहित हनुवंतिया टापू पहुंच गए। एक महीने का जल महोत्सव खत्म हो जाने के बाद यह उनकी निजी यात्रा बताई जा रही है। स्थाई श्यूट सुरक्षा बल ने घेर लिये हैं।

वे रात भी बोरियामाल टापू व हाउस बोट में बिताएंगे। नेता, अभिनेता या अफसरों के साथ मीडिया को भी यहाँ फटकने तक नहीं दिया गया। यात्रा इतनी गोपनीय थी,कि शाम को खंडवा में पता चला। मीडिया व कुछ नेता पहुंचे लेकिन उन्हें रोक दिया गया। सीएम ने जिले के दो बड़े अफसरों को ही सूचना दी थी। इसे उन्होंने भी गोपनीय रखा। शिवराजसिंह चौहान पिछली बार भी हनुवंतिया में रात रुके थे। तब सबसे मिले भी थे। इस बार भारी पुलिस चौकसी के कारण कोई भी उनके श्यूट तक नहीं पहुंच पाया।

शिवराजसिंह चौहान के साथ उनकी पत्नी साधना सिंह, पुत्र कार्तिकेय भी आए हैं। सारी बोट, क्रूज सब बंद कर दिये गए। पानी में भी बोटों पर काफी दूर तक वर्दीवालों का पहरा लगा दिया गया है। शिवराज के नजदीकी सूत्र बताते हैं कि वे रात में हाउस बोट पर भी घूमेंगे। बोरिया माल टापू पर भी उनके लिए खाद्य सामग्री व अन्य सुविधाओं के साथ जनरेटर, अलाव की व्यवस्था की जा रही है।

यह भी बताया जा रहा है कि पर्यटन सचिव व मुख्यमंत्री के सचिव हरिरंजन राव ने भीड़ से अलग रहकर उन्हें हनुवंतिया आने की सलाह दी थी। इसीलिए उन्होंने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार चौहान को जल महोत्सव के समापन कार्यक्रम में भेज दिया था। इसके शुभारंभ में मुख्यमंत्री आए थे, तब बदकिस्मती से जल सवारी नहीं कर पाए थे।

Related Posts: