कराहल में सहरिया सम्मेलन में 36 करोड़ के कार्यों का लोकार्पण

सत्य नारायण गोयल
श्योपुर,

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिले के सहरिया बाहुल्य विकासखण्ड कराहल में कुपोषण से मुक्ति के खिलाफ जंग का ऐलान करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार कुपोषण से ल$डने के लिए प्रत्येक सहरिया परिवार की महिला सदस्य को एक हजार रूपए की राशि प्रतिमाह प्रदान करेंगी तथा परिवार के हर एक सदस्य के मान से १० रूपए किलो मूंग की दाल उपलब्ध कराई जाएगी।

उन्होंने कराहल विकासखण्ड अंतर्गत ३६ करो$ड २२ लाख रूपए की लागत से कराए गए विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकापर्ण एवं स्वीकृत कार्यों का शिलान्यास किया।

श्री चौहान ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिवस के अवसर पर सहरिया आदिवासी समाज में से कुपोषण का कंलक मिटाने का जो संकल्प लिया गया है, उसे सरकार और समाज मिलकर पूरा करेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा सहरिया जनजाति सहित अन्य अतिपिछ$डी जनजातियों के कल्याण के लिए अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए है।

जिनमें राज्य सरकार द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गरीब कल्याण एजेण्डा को लागू करते हुए गरीब परिवारों को ०१ रूपए किलो गेहूं, चावल और नमक मुहैया कराया जा रहा है। इसके साथ ही कुपोषण का सामना करने के लिए राज्य सरकार द्वारा सहरिया परिवारों को एक हजार रूपए की राशि प्रतिमाह पोष्टिक भोजन के लिए दिया जाएगा।

इस योजना से सहरिया समाज के ४३ हजार ४४७ परिवार लाभांवित होंगे। उन्होंने सहरिया परिवार की माताओं-बहनों से कहा कि सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली इस राशि का उपयोग वे बच्चों को स्वस्थ्य और पोष्टिक भोजन उपलब्ध कराने में ही करें।

मुख्यमंत्री ने आंगनवा$डी कार्यक्रर्ताओं से भी अपेक्षा की कि वे कुपोषित बच्चों को चिहिंत करें और उन्हें पोषण पुर्नवास केन्द्रों में भर्ती कराए। सरकार ऐसे बच्चों के माताओं को भी प्रतिदिन ५० रूपए की राशि मजदूरी के एवज में प्रदान करेंगी।

इस मौके पर सांसद अनूप मिश्रा ने कहा कि २५ दिसम्बर का दिन ऐतिहासिक दिन है। आज के दिन देश के यशस्वी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म हुआ है।

उनकी जनहितैषी छवि को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार द्वारा सहरिया समाज को कुपोषण से मुक्ति की जंग का एलान किया गया है। सरकार इन प्रयासों को ईमानदारी के साथ लागू करेंगी। उन्होंने कराहल में महाविद्यालय की स्थापना, स्टॉप डेम के निर्माण की मांग मुख्यमंत्री से की।

इससे पूर्व सहरिया समाज के प्रतिनिधि के रूप में सीताराम आदिवासी और सहरिया-बैगा-भारिया मुक्ति मोर्चा के संयोजक मुकेश मल्होत्रा तथा पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गुड्डी बाई ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

ये भी थे उपस्थित

कराहल के मॉडल स्कूल प्रांगण में आयोजित सहरिया समाज के सम्मेलन में प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस, सामान्य प्रशासन और अनुसूचित जनजाति कल्याण राज्यमंत्री लाल सिंह आर्य, जिले की प्रभारी मंत्री श्रीमती ललिता यादव, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत, मुरैना-श्योपुर संसदीय क्षेत्र के सांसद अनूप मिश्रा, मध्यप्रदेश राज्य पशुधन एवं कुक्कुट विकास निगम भोपाल के अध्यक्ष एवं केबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त मुंशीलाल आदि उपस्थित रहे.

Related Posts: