• बैरागढ़ अग्निकांड मामला
  • तत्काल मुआवजे की घोषणा नहीं, व्यापारी निराश

संत हिरदाराम नगर,

उपनगर में पिछले दिनों भीषण आगजनी से व्यापारियों को करोड़ों का नुकसान हुआ था. इस दुर्घटना से कपड़ा व्यापारियों के सामने रोजी रोटी के लाले पडऩे लगे हैं.

व्यापारी इस बात को लेकर चिन्तित थे कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उनके बीच नहीं पहुंचे जिससे की व्यापारियों को तत्काल मुआवजा मिले. व्यस्तता के कारण मुख्यमंत्री संत नगर नहीं पहुंचे थे.

सोमवार को जैसे ही शाम 7 बजे मुख्यमंत्री के बैरागढ़ पहुंचने की सूचना व्यापारियों को मिली. व्यापारियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा लेकिन जब मुख्यमंत्री ने तत्काल मुआवजे की घोषणा नहीं की तो व्यापारी नाराज दिखे.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार को संत हिरदाराम शापिंग काम्पलेक्स का निरीक्षण करने पहुंचे थे. उनके साथ स्थानीय भाजपा नेता और व्यापारी भी मौजूद थे सीएम ने पूरे काम्पलेक्स में घूम कर आगजनी में हुए नुकसान का जायजा लिया.

इसके बाद उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा है कि विधायक और व्यापारियों की कलेक्टर के साथ एक बैठक आयोजित की जाएगी इसके बाद जो भी होगा वह हरसंभव देने की लिए सरकार वचनबद्व है. उन्होंने कहा कि दोबारा बाजार खड़ा हो जाए इसके लिए हम बैंक से भी चर्चा करेंगे. जिससे की व्यापारियों की मदद की जा सके.

कलेक्टर की रिपोर्ट के बाद ही तय किया जाएगा की व्यापारियों को कितना मुआवजा दिया जाए. संत हिरदाराम नगर में राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता सोमवार सुबह संत नगर पहुंचे और उन्होंने पिछले दिनों व्यापारियों की आगजनी से हुए नुकसान की जानकारी ली.

उन्होंने काफी देर तक रूक कर व्यापारियों से चर्चा की और शासन से हरसंभव मदद दिलाने की बात कही. उन्होंने यह भी कहा है कि कलेक्टर द्वारा कराया गया सर्वे हो चुका है उसकी रिपोर्ट तैयार हो गई है. जल्द ही संत नगर में व्यापारियों को हुए नुकसान का मुआवजा दिया जायेगा.

थोक वस्त्र व्यवसाय संघ के अध्यक्ष ने दिया ज्ञापन

सीएम को थोक वस्त्र व्यवसाय के पदाधिकारियों ने एक ज्ञापन सौंपा है जिसमें तत्काल मुआवजा और व्यापारियों को हुए नुकसान का उल्लेख किया गया है व यह भी मांग की गई है कि बैंक से लोन दिलाया जाए जिसमें सरकार की गारन्टी हो इसके बाद मुख्यमंत्री ने व्यापारियों को आश्वासन दिया कि वह इस संबध में कलेक्टर से चर्चा करेंगे और व्यापारियों को हर संभव मुआवजा और मरम्मत का खर्चा दिलाया जाएगा.

हालांकि तत्काल मुआवजे की घोषणा मुख्यमंत्री ने नहीं की. मुख्यमंत्री के निरीक्षण के दौरान विधायक रामेश्वर शर्मा, राम बंसल रैनवाल, भाजपा मण्डल अध्यक्ष चन्द्रप्रकाश ईसरानी सहित बड़ी संख्या में जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद थे.

Related Posts: